मुख्यपृष्ठनए समाचारखंभों, पेड़ों पर लाइटिंग बंद, फीकी पड़ी तस्वीर, सड़कों पर गड्ढे ...मुंबई...

खंभों, पेड़ों पर लाइटिंग बंद, फीकी पड़ी तस्वीर, सड़कों पर गड्ढे …मुंबई सौंदर्यीकरण का उतरा रंग, ७१५ करोड़ स्वाहा!

मनपा करेगी जांच, ९९४ कामों की दशा हुई खराब 

सामना संवाददाता / मुंबई
महानगर मुंबई के सौंदर्यीकरण के नाम पर किया गया खर्च पानी में बह गया और सौंदर्यीकरण का रंग फीका पड़ गया है। इस काम में एक साल में ७१५ करोड़ रुपए स्वाहा हो गए हैं। पूरे मुंबई में कई जगहों पर बिजली के खंभों और पेड़ों पर लगी लाइटें बंद हो गई हैं और रंगी हुई दीवारों का रंग भी फीका पड़ गया है। सौंदर्यीकरण उपक्रम में ९९४ कार्य किए गए हैं। इसके चलते मनपा प्रशासन द्वारा इन सभी कार्यों की जांच की जाएगी। मनपा प्रशासन ने जानकारी दी है कि इन कामों में गैर जिम्मेदारी बरतने वाले ठेकेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। लेकिन अभी तक किसी भी तरह की कार्रवाई के संकेत नहीं मिले हैं।
राज्य सरकार ने मुंबई के सौंदर्यीकरण की घोषणा करते हुए खूब हो-हल्ला मचाया और प्रचार के लिए इन कामों का दो बार उद्घाटन किया। इसके बाद गर्मी के दौरान काफी धीमी गति से काम हुआ था। ‘जी-२०’ सम्मेलन के मौके पर मुंबई में बैठक के लिए आनेवाले प्रतिनिधियों के सामने दिखावे के लिए इस दौरान बड़ी संख्या में काम किए गए, लेकिन बरसात के मौसम में इन कार्यों की रंगत उड़ने की तस्वीरें सामने आई हैं। कई जगहों पर सड़क के दोनों तरफ की लाइटिंग बंद है तो कई जगहों पर इसके तार खतरनाक तरीके से लटक रहे हैं। खंभों पर लगी लाइट भी बंद है। कई जगहों पर ट्रैफिक आईलैंड की हालत भी ऐसी ही हो गई है इसलिए यह आलोचना हो रही है कि मनपा ने जो खर्च किया, वह बर्बाद हो गया है।
सरकार ने नहीं दिए १,७०० करोड़ रुपए
राज्य सरकार ने जोरदार तरीके से घोषणा की कि इस साल बजट में मुंबई के सौंदर्यीकरण के लिए १,७२९ करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। हालांकि, सरकार ने अभी तक इनमें से कोई भी धनराशि मनपा को नहीं दी है। इस बीच मनपा अब तक करीब सैकड़ों करोड़ रुपए खर्च भी कर चुकी है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या राज्य सरकार ने सिर्फ श्रेय लेने के लिए मनपा और जनता की आंखों में धूल झोंकी। मनपा के खजाने से फंड खर्च कराकर सरकार खुद मौन हो गई है।
ऐसे हो रहा काम
मुंबई में सड़क, यातायात आईलैंड मरम्मत-सौंदर्यीकरण, सड़क के दोनों ओर खंभों और पेड़ों पर आकर्षक लाइटिंग, फुटपाथों की मरम्मत व सुधार, दीवारों की रंगाई-पुताई, पार्कों में रोशनी-सुधार का काम किया जा रहा है। इसमें कुल १,२८५ कार्य प्रस्तावित हैं, जबकि इसमें से ९९४ कार्य पूर्ण हो चुके हैं। इसके तहत मुंबई शहर विभाग में ३१९ और दोनों उपनगरों में ६७५ काम किए गए हैं। प्रशासन की ओर से कहा गया है कि बचे हुए काम जल्द ही पूरे कर लिए जाएंगे।

अन्य समाचार