मुख्यपृष्ठनए समाचारबहन की तरह अब हिंदुस्थान की रक्षा की जिम्मेदारी -अशोक चव्हाण

बहन की तरह अब हिंदुस्थान की रक्षा की जिम्मेदारी -अशोक चव्हाण

सामना संवाददाता / मुंबई
कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने कल कहा कि ‘इंडिया’ के माध्यम से २६ पार्टियां एक साथ आई हैं, क्योंकि बहन की रक्षा की तरह ही हिंदुस्थान की रक्षा की जिम्मेदारी भी हम पर है। उन्होंने यह विश्वास भी जताया कि सभी सहयोगी दलों के नेता इसके लिए मिलकर काम कर रहे हैं।
‘इंडिया’ की बैठक के सिलसिले में आयोजित प्रेस कॉन्प्रâेंस को संबोधित करते हुए अशोक चव्हाण ने कहा कि उन्हें गर्व है कि यह बैठक मुंबई में हो रही है। यह धर्मनिरपेक्ष और कल्याणकारी राजा छत्रपति शिवाजी महाराज का महाराष्ट्र है। मानवता और भाईचारे का संदेश देनेवाले कई साधु-संत महाराष्ट्र होकर गए हैं। यह शाहू-फुले और डॉ. आंबेडकर का महाराष्ट्र है। महाराष्ट्र में ऐसी ऐतिहासिक परंपरा है। महाराष्ट्र ने देश के कई क्षेत्रों में क्रांति में अमूल्य योगदान दिया है। यह ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योंकि महाराष्ट्र में होनेवाले बदलाव के लिए ‘इंडिया’ की बैठक मुंबई में हो रही है।
२०१९ में भाजपा से ज्यादा वोट ‘इंडिया’ को
उन्होंने कहा कि २८ पार्टियां देश के विकास के लिए एक साथ आ रही हैं, न कि ‘इंडिया’ के जरिए किसी का विरोध करने के लिए। उन्होंने कहा कि यह खुशी की बात है कि बढ़ती तानाशाही का विरोध करने के लिए हम एक छत के नीचे आए हैं। २०१९ के चुनाव में ‘इंडिया’ में एकजुट पार्टियों को कुल २३.३ करोड़ वोट मिले, जबकि भाजपा को कुल २२.९ करोड़ वोट मिले। उन्होंने कहा कि भाजपा वोटों के बंटवारे के कारण सत्ता में आई है। भाजपा ने मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र जैसे राज्यों में हमारी सरकार गिरा दी। कर्नाटक में भी कांग्रेस सरकार का तख्तापलट हो गया लेकिन अगले चुनाव में मतदाताओं ने फिर से कांग्रेस को बहुमत दे दिया। भले ही महाराष्ट्र में भी हमारी सरकार गिर गई है, लेकिन राज्य में फिर से महाविकास आघाड़ी सरकार आएगी।

अन्य समाचार