मुख्यपृष्ठसमाचारसुनो सरकार, बच्चों के हक कुत्ते रहे डकार! क्या ऐसे पढ़ेगा और...

सुनो सरकार, बच्चों के हक कुत्ते रहे डकार! क्या ऐसे पढ़ेगा और बढ़ेगा इंडिया?

रामचंद्र कह गए सिया से, ऐसा कलियुग आएगा। हंस चुगेगा दाना तिनका कौवा मोती खाएगा। ये लाइनें उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में हुई घटना पर बिल्कुल सटीक बैठती है। यहां मिड डे मील में गरीब बच्चों को मिलने वाला दूध, बच्चों की बजाय कुत्ते को पिलाया गया। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। दरअसल, यह मामला अलीगढ़ के अतरौली इलाके का है, जहां मॉडल स्कूल अहमदपुरा खंड के कैंपस में बेहद चौंकाने वाली तस्वीर देखने को मिली। यहां बच्चों के हक का दूध कुत्ता पीता नजर आया। भविष्य माने जाने वाले मासूम बच्चों को खिचड़ी से संतोष करना पड़ा। हालांकि किसी मूक प्राणी की सेवा करना कोई गलत बात नहीं हैं, लेकिन बच्चों के हक का दूध जानवर को पिलाना कहां तक जायज है? बता दें कि कुत्ते द्वारा दूध पीने का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा। इस वायरल वीडियो में देखा जा सकता हैै।

अन्य समाचार