मुख्यपृष्ठनए समाचारसिर्फ ५ घंटों में हुआ ` २२५ करोड़ का नुकसान! ट्रैफिक...

सिर्फ ५ घंटों में हुआ ` २२५ करोड़ का नुकसान! ट्रैफिक में फंस गए थे बंगलुरु आईटी कंपनियों के कर्मचारी 

  • मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

सामना संवाददाता / बंगलुरू
भारत की सिलीकॉन वैली सिटी बंगलुरु में ट्रैफिक जाम से आईटी कंपनियों को करोड़ों का नुकसान होता है। हाल ही में यहां ५ घंटे के लंबे ट्रैफिक जाम में आईटी क्षेत्र की कंपनियों के कर्मचारियों के पंâसने से कंपनियों को लगभग २२५ करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा। आउटर रिंग रोड कंपनीज एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई को लिखा है कि बंगलुरु आईटी कंपनियों को ३० अगस्त को २२५ करोड़ का नुकसान हुआ क्योंकि उनके कर्मचारी लगभग पांच घंटे तक ट्रैफिक में फंसे रहे।
उन्होंने पत्र में कहा है कि ओआरआर का खराब ढांचा अब संकट के स्तर पर पहुंच गया है। अनुमान है कि कृष्णराजपुरम से लेकर बंगलुरु के सेंट्रल सिल्क बोर्ड क्षेत्र तक आउटर रिंग रोड खंड पर आधे मिलियन से अधिक लोग कार्यरत हैं। १७ किलोमीटर का यह मार्ग एक लाख से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार भी प्रदान कर रहा है और राज्य की अर्थव्यवस्था में इसका बहुत बड़ा योगदान है। कंपनी एसोसिएशन ने पत्र में इस गंभीर समस्या को लेकर कहा कि यह भयावह है कि इस क्षेत्र में बुनियादी ढांचे के विकास पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। बंगलुरु के बुनियादी ढांचे का हालिया पतन अब एक वैश्विक चिंता है और यह शहर के विकास पर भी सवाल खड़ा करता है। एसोसिएशन ने यह भी आशंका जताई है कि अगर स्थिति समान रही तो कंपनियां वैकल्पिक गंतव्य की तलाश कर सकती हैं।
इससे पहले मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने बंगलुरु के आउटर रिंग रोड में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और जल्द ही सभी नागरिक मुद्दों को ठीक करने का आश्वासन दिया। उन्होंने अधिकारियों को शहर में बरसाती पानी की नालियों को अवरुद्ध करने वाली संपत्तियों और अतिक्रमणों को हटाने का भी आदेश दिया है।

अन्य समाचार