मुख्यपृष्ठनए समाचार‘प्रेम कैदी’ हुए कैद! .... लैला-मजनूं के बीच आया दोस्त हुआ कुर्बान

‘प्रेम कैदी’ हुए कैद! …. लैला-मजनूं के बीच आया दोस्त हुआ कुर्बान

• पति से अलग हो चुकी थी प्रेमिका
•  हत्या के आरोप में प्रेमी-प्रेमिका गिरफ्तार

सामना संवाददाता / मुंबई । प्रेम में वैâद होनेवाले ‘प्रेम वैâदी’ असल में जेल में वैâद कर लिए गए। मामला एक मर्डर से जुड़ा हुआ है। पवई के महात्मा फुले नगर में रहनेवाले लैला- मजनूं के बीच रोड़ा बन रहे एक दोस्त की हत्या कर दी गई। इस मामले में पार्क साइट पुलिस ने शुक्रवार देर रात आरोपी प्रेमिका और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों को कोर्ट ने १२ अप्रैल तक पुलिस रिमांड में भेजा है।
पवई के महात्मा फुले नगर में प्रदीप भदरगे नामक युवक की हत्या कुछ दिन पहले हुई थी। इस मामले में राकेश (बदला नाम) और उसकी प्रेमिका राखी (बदला हुआ नाम) को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी राकेश और प्रदीप भदरगे दोनों पवई आईआईटी मार्केट  के पास महात्मा फुले नगर स्थित एक ही फ्लैट में रह रहे थे। वहीं पास में पति से अलग हुई राखी भी रह रही थी। इसलिए प्रदीप और राकेश दोनों उसे अच्छी तरह से पहचानने लगे थे और उसके संपर्क में थे। पिछले कुछ महीनों से राकेश का राखी के साथ अफेयर चल रहा था, इस कारण राखी का प्रदीप के संपर्क में रहना राकेश को पसंद नहीं आया। राकेश ने फोन कर राखी को प्रदीप के संपर्क में नहीं रहने का दबाव भी बनाया पर वो काम नहीं आया।
प्रेमी-प्रेमिका ने बनाई हत्या की योजना
इस बीच राखी के मुलुंड जाने के बाद भी प्रदीप उसके संपर्क में था। इससे राकेश का संदेह और बढ़ गया। राकेश ने अपने रास्ते के कांटे को हटाने का पैâसला करते हुए एक दिन पहले भांडुप से एक लोहे की छड़ और एक चाकू खरीदा और उसे हनुमान नगर की ओर जानेवाले फुटपाथ पर छिपा दिया। फिर उसने सोमवार की रात प्रदीप को हनुमान नगर की सीढ़ियों पर बुलाने के लिए राखी को कहा। सोमवार की रात करीब ११ बजे राखी ने प्रदीप को अंधेरे में मिलने के लिए फोन किया, तो कुछ ही देर में प्रदीप का पीछा कर रहे राकेश ने लोहे की रॉड व चाकू से प्रदीप पर दो बार हमला किया। इसके बाद दोनों मौके से फरार हो गए।
सीसीटीवी फुटेज से लगा सुराग
इस मामले में पार्क साइट पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया। वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक विनायक मेर के मार्गदर्शन में पुलिस विक्रम बंसोडे, अनिल शेलके और रवींद्र पाटील द्वारा जांच शुरू की गई। हत्याकांड की जांच के दौरान पुलिस को इलाके के सीसीटीवी फुटेज मिलने के बाद आरोपी राकेश को संदेह के आधार पर गिरफ्तार कर पूछताछ की गई, तो पता चला कि हत्या उसी ने की थी। इस मामले में राकेश को मदद करने के आरोप मे प्रेमिका को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

अन्य समाचार