मुख्यपृष्ठअपराधवेब सीरीज देखकर प्रेमी बन रहे हैवान! वसई में दो वर्षों में...

वेब सीरीज देखकर प्रेमी बन रहे हैवान! वसई में दो वर्षों में हुईं ६ हत्याएं

सामना संवाददाता / मुंबई
चर्चित श्रद्धा वालकर हत्याकांड ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। वसई में रहनेवाली श्रद्धा की मौत का खुलासा दिल्ली में हुआ है, जबकि पिछले दो वर्षों में वसई तालुका में हत्या के छह मामले सामने आए हैं। इन सभी मामलों में प्रेमी ने अलग-अलग कारणों से अपनी-अपनी प्रेमिकाओं को मौत के घाट उतारा है। मनोचिकित्सकों का मानना है कि सोशल मीडिया, वेब सीरीज और गेम युवाओं के दिमाग पर प्रहार कर रहा है, जिससे उनके सोचने-समझने की शक्ति कम हो रही है। वेब सीरीज देखकर युवा वारदात को अंजाम देते हैं और शव नष्ट करने की कोशिश भी करते हैं।
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक इस वर्ष फरवरी महीने में सागर नाईक ने अपनी प्रेमिका सायली की वसई के एक लॉज में हत्या कर दी थी और खुद बिहार में जाकर आत्महत्या कर ली। आरोपी सागर दिनभर गेम खेलता था। मई में नालासोपारा के एक फार्म हाउस में प्रेमी ने अपनी नाबालिग प्रेमिका की हत्या की और फिर खुद भी आत्महत्या कर ली थी। २६ अगस्त को नायगांव में एक १४ वर्षीय किशोरी का शव बैग में बरामद हुआ था, जिसकी हत्या उसके प्रेमी व दोस्त ने मिलकर की थी। वर्ष २०२१ के जुलाई महीने में वसई-पूर्व में रहनेवाली महबूबा बीबी की हत्या भी उसके प्रेमी ने की थी। फिर सितंबर में नालासोपरा की ज्योति गौतम की हत्या हुई। इसके बाद श्रद्धा वालकर की हत्या आफताब ने की और वेब सीरीज देखकर उसने शव के ३५ टुकड़े किए थे।
प्रेमियों द्वारा हत्या किए जाने के मामले में मनोचिकित्सक डॉ. सुरेश पाटील ने बताया कि सोशल मीडिया के अत्यधिक इस्तेमाल, मोबाइल गेम्स की लत के कारण युवा हिंसक होते जा रहे हैं। इन दिनों युवा वेब सीरीज काफी हद तक पसंद कर रहे हैं, जिसमें रक्तरंजित, रोमांच, हिंसा को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया जा रहा है। सायली शाह हत्या की जांच करनेवाले पुलिस इंस्पेक्टर ए. एच. देसाई ने भी कहा कि सागर नाईक मोबाइल गेम्स का आदी था। वह घंटों एक जगह बैठकर गेम खेलता था, जिससे उसका दिमाग काफी हद तक बिगड़ गया था।

 

अन्य समाचार