मुख्यपृष्ठसमाचारकोस्टल रोड से होगी `महाबचत'! टाइम और मनी दोनों की होगी सेविंग

कोस्टल रोड से होगी `महाबचत’! टाइम और मनी दोनों की होगी सेविंग

  • फायदे को लेकर मुंबईकरों में उत्साह
  • ११९ दिनों में एक किमी सुरंग खुदाई का काम पूरा
  • आगामी १०० दिनों में बाकी का काम हो जाएगा पूर्ण

सामना संवाददाता / मुंबई
महानगरपालिका की महत्वाकांक्षी मुंबई कोस्टल रोड परियोजना का काउंटडाउन शुरू हो चुका है। इस परियोजना की पहली सुरंग का लगभग ८० प्रतिशत काम पूरा हो चुका है तो दूसरी सुरंग की खुदाई का काम भी आधे से ज्यादा पूरा हो चुका है। सुरंग खुदाई के महत्वपूर्ण चरण का काम पूरा होने के साथ ही कोस्टल रोड परियोजना के निर्माण कार्य की रफ्तार में तेजी आएगी। कोस्टल परियोजना से मुंबईकरों को महाबचत होने वाली है। इससे मुंबईकरों की समय और र्इंधन दोनों की बचत होगी। मरीन ड्राइव से वर्ली आवाजाही के लिए जहां लोगों का ७० प्रतिशत समय बचेगा तो वहीं गाड़ियों में ३० प्रतिशत से ज्यादा ईंधन की बचत होगी। मनपा की इस कोस्टल रोड और परियोजना के फायदे को लेकर मुंबईकरों में काफी उत्साह है।
मनपा की कोस्टल रोड परियोजना का काम इन दिनों फुल  स्पीड में चल रहा है। ११ जनवरी २०२१ में शुरू हुई कोस्टल रोड परियोजना की पहली सुरंग की खुदाई एक वर्ष अर्थात १० जनवरी २०२२ को पूरी हो गई थी। इसके बाद एक अप्रैल से दूसरी सुरंग की खुदाई का काम शुरू हुआ, जिसका मात्र ११९ दिनों में एक किमी तक सुरंग की खुदाई का काम पूरा कर लिया गया। अब बचे हुए एक किमी ७ मीटर सुरंग की खुदाई के लिए काउंटडाउन शुरू हो गया है। मनपा के इंजीनियरों का दावा है कि आगामी १०० दिनों में बाकी की सुरंग खुदाई के काम को पूरा कर लिया जाएगा। इस वर्ष के अंतिम महीने से पहले सुरंग खोदने का काम पूरा होगा।
युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे की खास नजर
मनपा की इस महत्वाकांक्षी योजना के निर्माण कार्य को लेकर शिवसेना के युवासेनाप्रमुख व पूर्वपर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे का विशेष ध्यान है। वे समय-समय पर इसका जायजा लेते रहते हैं। कोस्टल रोड प्रोजेक्ट के तेज काम की रफ्तार को देखकर आदित्य ठाकरे ने भी संतुष्टि व्यक्त की है और कार्य में जुटे अधिकारियों की सराहना भी की है। आदित्य ठाकरे के अनुसार यह मनपा की परियोजना है। सीधे मुंबईकरों से कनेक्ट है। यह परियोजना पूरी होने के साथ ही मुंबईकरो को इसका लाभ मिल सकेगा।
अगले वर्ष नवंबर में मिलेगा लाभ
अधिकारियों का दावा है कि अगले वर्ष नवंबर से पहले यह परियोजना पूरी कर ली जाएगी। इसके बड़े और पेचीदे काम को अंजाम दिया जा चुका है। अब बचे हुए छोटे-छोटे कार्यों को पूरा कर नवंबर से मुंबईकरों के लिए इस परियोजना की शुरुआत की जाएगी।

१०.५८ किमी लंबी परियोजना
बता दें कि देश की सबसे धनी मुंबई महानगरपालिका की महत्वाकांक्षी कोस्टल रोड परियोजना का काम पूरी रफ्तार से शुरू है। लगभग १२ हजार करोड़ रुपए की लागत वाली १०.५८ किमी लंबी कोस्टल रोड परियोजना का निर्माणकार्य लगभग ६० प्रतिशत पूरा हो चुका है। इस परियोजना पर तैनात मावला मशीन से २.०७ किमी लंबी दो सुरंगें भी बनाई जा रही हैं। पहली सुरंग की खुदाई का काम पूरा करने के बाद पुन: दूसरी सुरंग की खोदाई का काम शुरू कर दिया गया। ६-६ लेन की ये सुरंगें समुद्र और पर्वत के १० मीटर से १०० मीटर नीचे से पास हो रही हैं।
सुरक्षा संसाधनों से लैस होगी सुरंगें
इस परियोजना को तीन चरणों में बनाया जा रहा है। पहले चरण में मरीन ड्राइव से प्रियदर्शनी पार्क तक दो सुरंग का निर्माण किया जा रहा है। किसी भी अप्रिय घटना के दौरान सुरक्षा के लिए फायर सिस्टम तो घायलों के इलाज के लिए एंबुलेंस तैनात किया जाएगा। एक बड़ा सर्विâट हाउस बनाकर इस कोस्टल रोड के सुरंग में सभी इलेक्ट्रिक सर्विलांस को उस सेंटर से संचालित किया जाएगा। पूरे सुरंग को ६ ठिकानों पर एयरपासिंग के लिए मशीनें लगाई जाएंगी।

अन्य समाचार