मुख्यपृष्ठनए समाचारमुंबई समेत महाराष्ट्र में 20 जून से होगी भारी बारिश

मुंबई समेत महाराष्ट्र में 20 जून से होगी भारी बारिश

  • बारिश को लेकर येलो अलर्ट जारी
  • भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने जताई संभावना

सामना संवाददाता / मुंबई

मुंबई में मानसून की पहली भारी बारिश रविवार को होने की संभावना है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने रविवार और सोमवार को मुंबई, ठाणे और पालघर में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी देते हुए अलर्ट जारी किया है। गुरुवार को दक्षिण-पश्चिम मानसून ने लगभग पूरे राज्य को अपनी चपेट में ले लिया। आईएमडी के पूर्वानुमान में कहा गया है कि सक्रिय मानसून की स्थिति को देखते हुए मध्य महाराष्ट्र के कोकण और आसपास के घाट क्षेत्रों में वर्षा की गतिविधि 18 जून से धीरे-धीरे बढ़ने की उम्मीद है। वहीं 20 जून से पूरे महाराष्ट्र में मूसलाधार बारिश की संभावना है।
सात दिन के पूर्वानुमान के मुताबिक रविवार तक शहर में रुक-रुककर हल्की से मध्यम बारिश जारी रहेगी। मुंबई में बुधवार रात को बारिश के कुछ छोटे लेकिन तीव्र दौरों के साथ बारिश शुरू हो गई। शहर के कई हिस्सों में बुधवार रात और गुरुवार की सुबह बारिश की गतिविधि देखी गई। कुर्ला और सायन के निचले इलाकों में जलजमाव की स्थिति देखी गई। इसी तरह ठाणे और आसपास के अनेक क्षेत्रों में बारिश हुई।

1 जून से शहर में हुई इतनी बारिश

गुरुवार को सुबह 8:30 बजे समाप्त हुए पिछले 24 घंटों में आईएमडी सांताक्रुज में 11.7 मिमी और कुलाबा में 18 मिमी बारिश दर्ज की गई, जो पूरे शहर का सबसे ज्यादा है। गुरुवार सुबह उच्च सापेक्षिक आर्द्रता 92 प्रतिशत दर्ज की गई। शहर में सामान्य से अधिक और न्यूनतम तापमान क्रमश: 31.1 डिग्री सेल्सियस और 26.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 1 जून से शहर में 94.3 मिमी बारिश हुई है, जो सामान्य से 114.1 मिमी कम है। बुधवार और गुरुवार को विदर्भ के कई जिलों में बारिश हुई। सभी जिलों में तापमान में गिरावट से नागरिकों को गर्मी से राहत मिली है। नागपुर में तापमान 5.1 डिग्री सेल्सियस गिरकर 32.9 डिग्री सेल्सियस पर आ गया। अगले पांच दिनों तक विदर्भ में गरज के साथ बारिश होगी।

मछुआरों के लिए जारी हुई चेतावनी

पश्चिमी तट पर बारिश में वृद्धि के साथ, आईएमडी ने मछुआरों को भी चेतावनी जारी की है। आईएमडी ने कहा है कि 20 जून को उत्तरी महाराष्ट्र तट और उसके बाहर 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी, जिसके 60 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने की संभावना है। ऐसे में मछुआरों को उत्तरी महाराष्ट्र तट की ओर न जाने की सलाह दी गई है। वहीं राज्य में बिजली गिरने से उसकी चपेट में आए कई लोगों की जान जा चुकी है।

अन्य समाचार