मुख्यपृष्ठनए समाचारबाजार समिति चुनाव में महाविकास आघाड़ी का लहराया परचम! -शिंदे गुट-भाजपा का...

बाजार समिति चुनाव में महाविकास आघाड़ी का लहराया परचम! -शिंदे गुट-भाजपा का सूपड़ा साफ

सामना संवाददाता / मुंबई
राज्य की १४७ कृषि उत्पन्न बाजार समितियों के चुनाव के परिणाम कल घोषित किए गए। कृषि बाजार समिति चुनाव के घोषित हुए परिणाम में शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पार्टी, राकांपा और कांग्रेस आघाड़ी को जहां भारी सफलता मिली है, वहीं भाजपा और शिंदे गुट की अधिकतर समितियों में सूपड़ा साफ हो गया है। शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पार्टी के पूर्व मंत्री संजय देशमुख के नेतृत्व में दिग्रस की १८ में से १४ सीटों पर महाविकास आघाड़ी ने जीत हासिल की। यहां शिंदे गुट के पालकमंत्री संजय राठौर और भाजपा को महज चार सीटों पर संतोष करना पड़ा। बताया जा रहा है कि दिग्रस के लोगों ने बाजार समिति के चुनाव में संजय राठौड़ के प्रति शिवसेना के साथ की गई गद्दारी का गुस्सा उबल रहा था, जिसको मतदाताओं ने मत के माध्यम से राठौर के प्रति अपना गुस्सा जाहिर किया है।
यवतमाल में शिवसेना-कांग्रेस के हाथ में सत्ता
यवतमाल में शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पार्टी और कांग्रेस के हाथ में सत्ता की बागडोर है। कांग्रेस नेता बालासाहेब मांगुलकर और शिवसेना के संतोष ढवले के नेतृत्व में ११ सीटें जीतीं और स्पष्ट बहुमत हासिल किया। यहां भाजपा ने चार और निर्दलीयों ने तीन सीटें जीती हैं।
शिंदे गुट को जोरदार झटका!
शिवसेना से गद्दारी करनेवाले नासिक के पालकमंत्री दादा भुसे को इस चुनाव में अपने घरेलू मैदान पर बड़ा झटका लगा है। मालेगांव कृषि उत्पन्न बाजार समिति के चुनाव में शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पार्टी के उपनेता अद्वय हिरे के नेतृत्व वाली महाविकास आघाड़ी ने बाजार समिति पर सत्ता हासिल कर ली है। इस चुनाव में, सोसाइटी गुट ने शानदार जीत हासिल करते हुए ग्यारह में से दस सीटें जीती हैं। इससे शिवसेना से गद्दारी करनेवाले पालकमंत्री दादा भुसे को बड़ा झटका लगा है।
बाबुलगांव बाजार समिति से भी भाजपा का सफाया
बाबुलगांव बाजार समिति में सत्ताधारी शिंदे और भाजपा के गुट में खलबली मच गई। महाविकास आघाड़ी ने यहां की १८ में से १४ सीटों पर जीत हासिल की थी। चार सीटों पर भाजपा प्रत्याशी जीते थे। आष्टी में कांग्रेस के हाथ में सत्ता आई है।
मावल में आघाड़ी निर्विवाद रूप से विजयी
मावल तालुका कृषि उत्पन्न बाजार समिति चुनाव में १८ में से १७ जगहों पर जीतकर आघाड़ी का सहकार पैनल ने निर्विवाद वर्चस्व कायम रखा है। भाजपा प्रणीत पैनल की बुरी तरह से हार हुई है। अकोला सहित आघाडी तकरीबन १०० समितियों पर खबर लिखे जाने तक आगे चल रहीं थी।

बारामती में भाजपा का सूपड़ा साफ
बारामती कृषि उत्पन्न समिति चुनाव में राकांपा ने शानदार जीत हासिल करते हुए भाजपा का पूरी तरह से सफाया कर दिया है। राकांपा ने बारामती कृषि उत्पन्न बाजार समिति की १८ में से सभी १८ सीटों पर जीत हासिल की है। इस जीत के लिए प्रतिपक्ष के नेता अजीत पवार ने मतदाताओं का आभार प्रकट किया है।

पुसद में नहीं खुला भाजपा का खाता, राकांपा का वर्चस्व कायम
राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण पुसद बाजार समिति में राकांपा नेता और पूर्व मंत्री मनोहरराव नाईक के नेतृत्व वाले मनोहरराव नाईक शेतकरी सहकारी पैनल ने सभी १८ सीटों पर जीत हासिल कर अपना दबदबा कायम रखा है। मनोहर नाईक के भतीजे, भाजपा विधायक एड. निलय नाईक के नेतृत्व वाले पैनल का पूरी तरह से सफाया हो गया है। पुसद के किसी भी चुनाव में भाजपा अपना वर्चस्व साबित नहीं कर पाई है।

अन्य समाचार