मुख्यपृष्ठनए समाचारमाखनचोर के गहने चुराए, ९ साल बाद वापस लौटाए ...भगवद् गीता पढ़ने...

माखनचोर के गहने चुराए, ९ साल बाद वापस लौटाए …भगवद् गीता पढ़ने से बदला मन

सामना संवाददाता / भुवनेश्वर
कभी भी कोई सामान चुराने के बाद चोर उसे वापस करता है क्या? पर एक चोर ने ऐसा किया है। वह भी कोई दो-चार दिन बाद नहीं बल्कि पूरे नौ वर्षों बाद। यह मामला ओडिशा का है। वहां एक चोर ने माखनचोर भगवान श्रीकृष्ण का ही गहना चुरा लिया पर भगवद् गीता पढ़ने से उसका मन बदल गया।
मिली जानकारी के अनुसार गोपीनाथपुर में भगवान कृष्ण का एक मंदिर है। इसे गोपीनाथ मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। एक चोर ने भगवान कृष्ण के गहने चुरा लिए। अब पूरे नौ सालों बाद चोर ने एक नोट लगाकर ये गहने लौटा दिए। उक्त नोट में चोर ने लिखा था कि चोरी करने के बाद से ही उसे बुरे सपने आने लगे थे। खबरों के मुताबिक, यह चोर भगवद् गीता पढ़ने लगा था। गीता पढ़ने के बाद उसे अपनी गलतियों का एहसास हुआ। चोर ने जो गहने चुराए थे, वे पीठासीन देवताओं कृष्ण और राधा के थे। इन गहनों का मूल्य कई लाख रुपए बताया गया है।
चोर ने अपने द्वारा छोड़े गए एक नोट में लिखा कि २०१४ के दौरान उसने यज्ञशाला में एक यज्ञ से उन गहनों को ले लिया था, जिसके लिए उसे इन ९ वर्षों के दौरान बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ा। चोर ने मंदिर के सामने के दरवाजे पर पुजारी का नाम लिखकर गहनों से भरा बैग रख दिया था। उसमें चोरी हुई टोपी, कान की बाली, कंगन और एक बांसुरी थी। उसने गहनों के साथ प्रायश्चित के रूप में अतिरिक्त ३०० रुपए भी छोड़े, अज्ञात चोर ने अपने माफी नोट में इन सब बातों का उल्लेख किया।

अन्य समाचार