मुख्यपृष्ठनए समाचारमेनका ने की सुल्तानपुर को रामायण सर्किट से जोड़ने की मांग

मेनका ने की सुल्तानपुर को रामायण सर्किट से जोड़ने की मांग

– सीताकुंड व धोपाप आदि स्थल हैं यहां रामायणकालीन, जहां त्रेतायुग में आए थे श्रीराम!

विक्रम सिंह / सुल्तानपुर

गांधी परिवार की ‘छोटी बहू’ मेनका गांधी की मांग है कि अयोध्या का पड़ोसी सुल्तानपुर शहर भी रामायण सर्किट से जोड़ा जाय। ऐसी मान्यता है कि त्रेता युग में भगवान श्रीराम यहां के कई स्थानों पर आए थे और इसी रास्ते से होकर वन भी गए थे।
गांधी परिवार की छोटी बहू व सुल्तानपुर से बीजेपी की सांसद गांधी इन दिनों अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे पर हैं। बुधवार को उन्होंने मीडिया से कहा कि अयोध्या में राममंदिर का निर्माण जरूरी था। इससे देश की एकता और मजबूती बढ़ेगी। साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार के सामने मांग रखी कि सुल्तानपुर को रामायण सर्किट से जोड़ा जाना चाहिए। यहां पर गोमती नदी के किनारे स्थित सीताकुंड घाट है, जहां वनगमन के समय राम लक्ष्मण एवं सीता ने स्नान-ध्यान एवं शिव आराधना की थी। साथ ही धोपाप घाट है, जिसके विषय में मान्यता है कि यहां रावण वध के बाद ब्रह्मदोष से मुक्ति के लिए उन्होंने स्नान किया और अवध की राजधानी में प्रवेश के पूर्व दियरा घाट पर दीपदान किया और दिवाली मनाई थी। रामायण सर्किट में जुड़ने से सुल्तानपुर जिले की उन्नति और विकास को नए पंख लगेंगे। साथ ही विश्व पर्यटन के नक्शे में सुल्तानपुर भी आ जाएगा।

अन्य समाचार