मुख्यपृष्ठनए समाचारमणिपुर दंगाइयों का सैन्य हथियारों से हमला! एके-४७ के बाद अब मोर्टार...

मणिपुर दंगाइयों का सैन्य हथियारों से हमला! एके-४७ के बाद अब मोर्टार उगल रहे आग, ताजा हमलों में ६ की मौत

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
केंद्र सरकार के तमाम दावों के बावजूद मणिपुर में शांति के कोई संकेत नजर नहीं आ रहे। ताजा हिंसक घटनाओं में मणिपुर के दंगाइयों ने अब सैन्य हथियारों से हमला किया है। इनमें मोर्टार जैसे घातक हथियार शामिल हैं, जो वहां आग उगल रहे हैं। ताजा हिंसा में कम से कम छह लोगों के मारे जाने की खबर है।
बता दें कि खबर लिखते वक्त तक सुरक्षा बलों और मैतेई समुदाय के बीच पिछले २४ घंटों से गोलीबारी जारी है। लोगों के मारे जाने के बाद हिंसा अन्य क्षेत्रों में भी फैल गई है। हिंसा तेराखोंगसांगबी कांगवे और थोरबुंग में हुई। यह क्षेत्र कुकी-मैतेई की सीमा के बीच स्थित है। ताजा हिंसक घटनाओं में मारे जानेवाले सभी क्वाटा लमलहाई के रहने वाले हैं। हमलावर बफर जोन को पार करने की कोशिश कर रहे थे। सुरक्षा बलों ने उन्हें रोकने की कोशिश की। इसी दौरान सुरक्षा बलों पर गोलीबारी की गई। जवाब में सुरक्षा बलों ने फायरिंग की। इसमें तीन लोगों की मौत हो गई। थोरबांग इलाके में पहाड़ी इलाकों से सुबह से ही गोलीबारी जारी थी। ताजा हिंसा के बाद भीड़ ने कई सड़कों को जाम कर दिया।
मणिपुर हिंसा में पीड़ितों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। सरकारी आंकड़े पीड़ितों की संख्या १६० बता रहे हैं, लेकिन वास्तविक संख्या इससे काफी ज्यादा होने की संभावना है। ताजा घटनाक्रम में एक आईआरएफ जवान की भी मौत हुई है।
घर में घुसकर हत्या
क्वाटा इलाके में कुछ दंगाइयों ने मैतेई समुदाय के तीन लोगों की उनके घर में घुसकर हत्या कर दी। हत्या के बाद उनके शवों को टुकड़े-टुकड़े कर दिया गया। कुछ ही घंटों बाद चुराचांदपुर में कुकी समुदाय के दो लोगों की हत्या कर दी गई। इन हत्याओं के बीच क्या संबंध है, इसका पता लगाने की कोशिश की जा रही है। बता दें कि गत ३ मई से मणिपुर में कुकी और मैतेई समुदायों के बीच भड़की हिंसा अभी भी जारी है। इस हिंसा में अब तक २०० से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

अन्य समाचार