मुख्यपृष्ठनए समाचारमनपा ने बदली कहानी: भारी बारिश में भी मिलेगा शुद्ध पानी!

मनपा ने बदली कहानी: भारी बारिश में भी मिलेगा शुद्ध पानी!

  • भांडुप जल प्रक्रिया केंद्र  में अब नहीं भरेगा पानी

सामना संवाददाता / मुंबई
महानगर में मनपा लोगों को शुद्ध जल उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध है। इसके लिए मनपा योजनाबद्ध तरीके से काम करती है। लेकिन पिछले वर्ष भांडुप के जलप्रक्रिया केंद्र  में अचानक भारी बारिश के दौरान पानी भर जाने से मुंबईकरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। ऐसी घटना दुबारा न हो, इसके लिए मनपा ने उस जल प्रक्रिया केंद्र की कहानी ही बदल दी है, ताकि दुबारा भांडुप जल प्रक्रिया केंद्र में ऐसी घटना न हो और मुंबईकरों को शुद्ध पानी मिलता रहे। मनपा ने भांडुप के जलप्रक्रिया केंद्र  को सुरक्षा कवच के दायरे में लाया है। इस बार मानसून के दौरान कितनी भी बारिश हो जाए तो भी भांडुप जल प्रक्रिया केंद्र  में पानी नहीं भरेगा। ऐसा दावा मनपा के जल विभाग के अधिकारी ने किया है।
जलजमाव की पुनरावृत्ति नहीं होगी
प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले वर्ष भांडुप जल प्रक्रिया केंद्र  में भारी बारिश में पानी भरने के बाद कई दिनों तक पानी सप्लाई प्रभावित हुई थी। ऐसी घटना से निजात के लिए मनपा ने टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स के टीम की सहायता ली। टीसीई ने काफी परीक्षण के बाद मनपा को तीन भाग में विकास काम करने के सुझाव दिए थे। पहले चरण में भीतरी हिस्से में पंपिंग सेट लगाने और अंदर की तरफ पानी के जलजमाव को रोकने के लिए यंत्रणा लगाने के सुझाव दिए थे। दूसरे भाग में मशीनों की सतह से ऊंचाई बढ़ाकर सुरक्षित दायरे में लाने का सुझाव दिया था। तो तीसरे भाग में केंद्र के आसपास सुरक्षा दीवार घेरा और मोटी ऊंची दीवार बनाने का सुझाव दिया था। इसके अतिरिक्त पर्वत से आनेवाले पानी की निकासी को डायवर्ट करने और सुरक्षा दीवार के दायरे को बढ़ाने का भी सुझाव दिया था।
पानी को किया गया डायवर्ट
मनपा अधिकारियों के अनुसार मौजूदा समय में टीसीई के सुझाव के पहले दो सुझाव पर काम पूरा कर लिया गया है तो तीसरे भाग का भी ज्यादातर काम हो गया है। ऐसे में अब यहां पुन: बारिश का पानी घुसने और जमा होने की नौबत नहीं आएगी। दीवार बनाई जा चुकी है और बरसाती पानी के बहाव को डायवर्ट किया जा चुका है। ऐसे में भांडुप प्रक्रिया केंद्र  में इस वर्ष बरसात का पानी आने की संभावना न के बराबर है। इस लिए मुंबईकरों को भारी बारिश में भी शुद्ध पानी मिलता रहेगा।

अन्य समाचार