मुख्यपृष्ठनए समाचारमनपा अस्पतालों में कम है मैनपावर, कैसे हो मरीजों की देखभाल?...

मनपा अस्पतालों में कम है मैनपावर, कैसे हो मरीजों की देखभाल? छह रोगियों पर होनी चाहिए एक नर्स, लेकिन सौ मरीजों पर हैं दो नर्स

इंडियन मेडिकल काउंसिल के नियमों का हो रहा है उल्लंघन
धीरेंद्र उपाध्याय / मुंबई
मुंबई मनपा अस्पतालों में मरीजों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है, लेकिन मरीजों की तुलना में मैनपावर कम पड़ रहा है। दूसरी तरफ इंडियन मेडिकल काउंसिल के शर्त के मुताबिक, छह मरीजों की देखभाल का जिम्मा एक नर्स पर होना चाहिए। लेकिन मौजूदा समय में मनपा द्वारा संचालित अस्पतालों की स्थिति इस शर्त के ठीक विपरीत है। जानकारी के अनुसार, मनपा अस्पतालों में प्रति सौ मरीजों पर एक या दो नर्स ही सेवा दे रहीं हैं। इस भारी अंतर से मरीजों की देखभाल पर असर पड़ रहा है। ऐसे में म्युनिसिपल यूनियन ने मनपा के अतिरिक्त मनपा आयुक्त डॉ. सुधाकर शिंदे से मांग की है कि उन्हें अस्पतालों की साफ-सफाई के साथ ही इस समस्या पर भी ध्यान देना चाहिए।
उल्लेखनीय है कि पिछले दो महीने से मुंबई मनपा के सभी अस्पतालों में विशेष सफाई अभियान चलाया जा रहा है। अतिरिक्त मनपा आयुक्त डॉ. सुधाकर शिंदे ने मुंबई मनपा की स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत करने के लिए सौ से अधिक बार विभिन्न अस्पतालों का दौरा किया है। साथ ही रोगियों की देखभाल और अस्पतालों में स्वच्छता को प्राथमिकता देने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इसे लेकर मनपा प्रशासन अपनी पीठ थपथपा रही है। इन सबके बीच म्युनिसिपल यूनियन के महासचिव रमाकांत बने ने मांग की है कि प्रशासन को साफ-सफाई, मरीजों व कर्मचारियों के अनुपात और उनके बीच भारी अंतर पर भी ध्यान देना चाहिए। बने ने सुधाकर शिंदे को पत्र लिखकर इस मुद्दे पर चर्चा के लिए समय देने का अनुरोध किया है।
बढ़ रही है मृत्यु दर
मुंबई की आबादी बढ़ने के साथ ही मनपा अस्पतालों में मरीजों की संख्या में भी वृद्धि हो रही है। अस्पतालों में बेड भरे रहते हैं। अक्सर देखे जाते हैं कि एक बेड पर दो मरीज रहते हैं। इतना ही नहीं बेड के नीचे और बरामदे में फर्श पर भी मरीज देखे जाते हैं।
मनपा अस्पतालों में इतने पद हैं आवश्यक
रमाकांत बने ने कहा कि मनपा के नायर अस्पताल में कर्मचारियों की १,६४८ पदों की आवश्यकता है, जबकि यहां ६८८ पद ही हैं। इनमें से ८० पद खाली हैं, ऐसी ही स्थिति तकरीबन मनपा के सभी अस्पतालों में है।
मनपा अस्पतालों में कार्यरत हैं १५,७०७ बेड
मनपा के पांच प्रमुख अस्पतालों केईएम, नायर, सायन, कूपर और नायर डेंटल में लगभग १२,४६२ बेड हैं। इसी तरह १७ उपनगरीय अस्पतालों में करीब ३,२४५ बेड हैं। इसके अलावा पांच समर्पित विशेष अस्पताल कार्य कर रहे हैं, जिसमें कस्तूरबा अस्पताल, एकवर्थ कुष्ठरोग अस्पताल, मुरली देवड़ा नगर नेत्र अस्पताल, टीबी रोग अस्पताल, सेठ आत्मासिंह जेसासिंह बांकेबिहारी ईएनटी अस्पताल शामिल हैं।

अन्य समाचार