मुख्यपृष्ठनए समाचारमराठा आंदोलन से डरी ‘घाती’ सरकार ... ट्रैक्टर पर ‘टशन’! ...मुंबई में...

मराठा आंदोलन से डरी ‘घाती’ सरकार … ट्रैक्टर पर ‘टशन’! …मुंबई में ‘मार्च’ के लिए लाए तो होगी कार्रवाई

गांवों में किसानों को पुलिस थमा रही है नोटिस
सामना संवाददाता / मुंबई
मराठा आंदोलन के तेज होने से ‘घाती’ सरकार डर गई है। आंदोलन के नेता मनोज जरांगे-पाटील ने अब मुंबई में आंदोलन और अनशन करने की चेतावनी दी है। इसके साथ ही मुंबई में ट्रैक्टर मोर्चा निकालने की भी खबर है। इससे ‘घाती’ सरकार डर गई है। अब खबर है कि महाराष्ट्र के ग्रामीण इलाके में ट्रैक्टर पर ‘टशन’ शुरू हो गया है। पुलिस ने ट्रैक्टर मालिकों को धमकाना शुरू कर दिया है कि अगर मराठा आंदोलन में तुम्हारा ट्रैक्टर शामिल हुआ तो इसके बाद बाकायदा कार्रवाई की जाएगी।
मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस ने इसके लिए नोटिस जारी करना शुरू कर दिया है। सरकार और पुलिस की भूमिका ये है कि इस आंदोलन में ट्रैक्टर जैसे वाहनों का इस्तेमाल न हो, इसलिए पुलिस ट्रैक्टर मालिकों को नोटिस दे रही है। मिली जानकारी के अनुसार, नांदेड़ जिले में ट्रैक्टर मालिकों को पुलिस ने इसी तरह का नोटिस दिया है। ये नोटिस नांदेड़ की कंधार पुलिस ने जारी किए हैं। इसके साथ ही धाराशिव पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को मार्च में ट्रैक्टरों का इस्तेमाल न करने की भी हिदायत दी है। राज्य में जब मराठा आरक्षण का मुद्दा गरम है तो सरकार दो अलग-अलग तरीकों से आंदोलन की समस्या को सुलझाने की कोशिश कर रही है। एक तरफ सरकारी प्रतिनिधिमंडल मनोज जरांगे से चर्चा कर रहा है। साथ ही, उनसे अनुरोध कर रहा है कि वे २४ दिसंबर की समय सीमा पर कायम न रहें। दूसरी ओर, सरकार इस बात का ख्याल रख रही है कि मराठा प्रदर्शनकारी मुंबई जाकर विरोध प्रदर्शन न करें। चर्चा है कि मराठा प्रदर्शनकारी ट्रैक्टर लेकर मुंबई में घुसने वाले हैं, इसलिए पुलिस ट्रैक्टर मालिकों को नोटिस दे रही है। नांदेड़ जिले की कंधार पुलिस ने नेहरूनगर के शंकर पवार को नोटिस भेजा है, जिसमें पुलिस ने कहा, ‘इस नोटिस के माध्यम से सूचित किया जाता है कि मराठा आरक्षण का मुद्दा इस समय महाराष्ट्र में चल रहा है, इसलिए पूरे राज्य में बैठकें, आंदोलन, धरना आंदोलन, मार्च आयोजित किए जा रहे हैं। गोपनीय जानकारी के मुताबिक, मराठा आरक्षण की मांग को लेकर मुंबई में कार्यकर्ताओं के जुटने की संभावना है, इसलिए आप इस आंदोलन में अपना ट्रैक्टर न लाएं। आपके पास जो ट्रैक्टर है, वह कृषि कार्य के लिए लिया गया है, इसलिए इसका उपयोग केवल कृषि कार्य के लिए ही किया जाना चाहिए।’ पुलिस ने नोटिस में चेतावनी दी कि कोई भी मराठा समुदाय के नेता, कार्यकर्ता आपके पास ट्रैक्टर के लिए आते हैं, तो उन्हें अपना ट्रैक्टर नहीं देना चाहिए। यदि ऐसा किया तो आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।’

अन्य समाचार