मुख्यपृष्ठनए समाचारसरकार की कार्रवाई का शांति से जवाब देंगे मराठा, मनोज जरांगे-पाटील का...

सरकार की कार्रवाई का शांति से जवाब देंगे मराठा, मनोज जरांगे-पाटील का दावा

सामना संवाददाता / मुंबई

मराठा समुदाय को ओबीसी में शामिल करने की मांग को लेकर मनोज जरांगे-पाटील २० जनवरी के बाद मुंबई में आमरण अनशन करेंगे। इसके लिए कार्यकर्ता सराटी से मुंबई तक पैदल यात्रा कर प्रवेश करेंगे। इसको लेकर उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने चेतावनी दी है। अजीत पवार ने कहा था, ‘अगर कोई मुंबई आते समय कानून हाथ में लेने की कोशिश करेगा तो कार्रवाई की जाएगी।’ अब मराठा आंदोलनकारी जरांगे-पाटील ने भी अजीत पवार को चुनौती दे दी है।
मीडिया से बात करते हुए मनोज जरांगे-पाटील ने कहा, ‘आखिरकार, पवार के पेट में जो था उसको जुबान पर ला दिया। शांति से आनेवालों पर कार्रवाई करो, फिर भी मराठा शांति से जवाब देंगे।’ उन्होने आगे कहा कि जब सरकार मराठा आरक्षण के प्रति सकारात्मक है तो अजीत पवार ऐसा रुख क्यों अपना रहे हैं? इस सवाल पर जरांगे-पाटील ने कहा, ‘अजीत पवार ऐसे व्यक्ति हैं, जो दुर्भाग्यवश सत्ता में आ गए। अगर वे ऐसी बात करते हैं तो हम उन्हें सरकार नहीं मानते। मुंबई जाकर आरक्षण लूंगा। जब आप कार्रवाई करेंगे तो मराठा शांति से जवाब देंगे।’ अजीत पवार ने कल्याण में कार्यकर्ताओं की एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, मैं और मंत्रिमंडल में मेरे सहयोगी आरक्षण मुद्दे को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं। मराठा समाज को आरक्षण मिलने का कोई विरोध नहीं कर रहा है, लेकिन कुछ लोग अतिवादी बातें कर रहे हैं।

अन्य समाचार