मुख्यपृष्ठसमाचाररिटायरमेंट की उम्र में शादी! लालू को सजा सुनाने वाले जज ने...

रिटायरमेंट की उम्र में शादी! लालू को सजा सुनाने वाले जज ने फिर रचाया विवाह

सामना संवाददाता / पटना
प्‍यार अंधा होता है। यह न उम्र देखता है और न ही जाति। प्‍यार जब परवान चढ़ता है तो समाज की बंदिशों को भी दरकिनार कर फैसले लेता है। ऐसा ही कुछ गोड्डा में हुआ जहां ५९ वर्ष के जज शिवपाल सिंह ने ५० वर्ष की अपनी प्रेमिका नूतन तिवारी के संग विवाह रचाया। जिले में इसकी खूब चर्चा हो रही है। चौक चौराहे व चाय की दुकान पर लोग इसकी ही बात कर रहे है। हो भी क्‍यों न क्योंकि रिटायरमेंट की उम्र में जज ने फिर शादी की।
चारा घोटाला में सुनाई थी सजा
बता दें कि शिवपाल का जिले में बड़ा नाम है और वे गोड्डा के प्रथम जज रहे हैं। बीते तीन वर्ष से वे इस पद पर काबिज हैं। मिजाज से कड़क और उसूल के पक्‍के जजों में उनकी गिनती होती है। अपने जीवन में वे कई अहम फैसले सुना चुके हैं। उसी में एक महत्‍वपूर्ण फैसला बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू यादव से जुड़ा हुआ है। जिसमें चारा घोटाला के केस में जज शि‍वपाल सिंह ने ही फैसला सुनाया था। इसी की सजा लालू काट रहे हैं और जमानत पर अभी बाहर हैं। स्‍वास्‍थ्‍य कारणों से कई दिनों तक अस्‍पताल में भी रहे है। लालू इसी केस में उम्र व स्‍वास्‍थ्‍य का हवाला देकर रिहाई की गुहार भी लगा चुके है। शिवपाल व नूतन आज एक-दूजे के हो गए।

अन्य समाचार