मुख्यपृष्ठनए समाचारविधान परिषद में परीक्षा : आज गणित का पेपर

विधान परिषद में परीक्षा : आज गणित का पेपर

  • किसी का जोड़, किसी का घटेगा
  • दोनों ओर जोरदार तैयारी

सामना संवाददाता / मुंबई
विधान परिषद में १० सीटों के लिए ११ उम्मीदवार मैदान में हैं और आज चुनावी जंग होनेवाली है। २८५ विधायकों में से उनकी पार्टी के विधायकों के मत उनके पास ही रहने चाहिए, ताकि एक भी मत का नुकसान न हो, इसके लिए आज से ही होटल से विधिमंडल के मतदान केंद्र पर पहुंचने तक मतदान प्रक्रिया और मतों के गणित आदि की जानकारी विधायकों को दी गई। २६ के कोटे के अंकगणित के बावजूद ऐन मौके पर गड़बड़ न हो, इसलिए अधिक से अधिक मत कोटे में रखने के लिए अंतिम समय तक जोड़-तोड़ शुरू रहेगी।
विधान परिषद का मतदान गुप्त पद्धति द्वारा होता है। विधान परिषद का यह चुनाव भाजपा और कांग्रेस की अपेक्षा शिवसेना और राकांपा के लिए आसान होगा। एनसीपी के दूसरे उम्मीदवार को एक मत की जरूरत है और इस गणित को एनसीपी समर्थक निर्दलीय विधायक आसानी से हल कर सकते हैं। हालांकि मतों के नुकसान का जोखिम न उठाने की रणनीति के कारण, प्रत्यक्ष २६ के कोटा को बढ़ाकर राकांपा २७ से २८ करने का प्रयास कर रही है, भले ही वास्तविक कोटा २६ है। चूंकि कांग्रेस को दूसरे उम्मीदवार को चुनने के लिए ८ वोटों की जरूरत है, यह निर्दलीय विधायकों के मतों के साथ-साथ विपक्ष के क्रॉस वोटिंग पर निर्भर करता है। कांग्रेस प्रत्याशी भाई जगताप ने महाविकास आघाड़ी की तरफ झुकाव रखनेवाले विपक्ष के विधायकों से विशेष संपर्क साधा है।
छहों उम्मीदवारों को चुनकर लाने की रणनीति
शिवसेना के साथ महाविकास आघाड़ी ने एनसीपी और कांग्रेस के उम्मीदवारों को चुनने का पैâसला किया है। इसलिए निर्दलीय उम्मीदवारों के अंकगणित का मिलान कर २६ से अधिक का कोटा तय कर सभी छह प्रमुख उम्मीदवारों को निर्वाचित कराने की रणनीति तैयार की गई है। महाविकास आघाड़ी के प्रमुख नेताओं ने विश्वास जताया है कि पार्टी के विधायकों और निर्दलीय समर्थकों के सहयोग से महाविकास आघाड़ी के सभी उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित की जाएगी।
विधायकों से वन टू वन चर्चा
उपमुख्यमंत्री अजीत पवार और राकांपा के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील ने रविवार दोपहर दो बजे से राकांपा के प्रत्येक विधायक से आमने-सामने बातचीत की। ऐसी जानकारी राकांपा विधायक दल के नेता अनिल पाटील ने दी। उन्होंने कहा कि चुनाव की रणनीति आघाड़ी के प्रमुख नेताओं ने तय की है।
एमआईएम की पवार से मुलाकात
एमआईएम के विधायक फारूक शहा ने ट्राइडेंट होटल में कल उपमुख्यमंत्री अजीत पवार से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि वह एकनाथ खडसे को ही मत देंगे। इसी तरह निर्दलीय विधायक किशोर जोर्गेवार वर्तमान में कांग्रेस विधायकों के साथ फोर सीजन्स होटल में हैं और महाविकास आघाड़ी के उम्मीदवार जीतेंगे, ऐसा उन्होंने कहा।
भाजपा का गणित नहीं खा रहा है मेल
भाजपा के चार उम्मीदवार चुने जाएंगे, लेकिन पांचवें उम्मीदवार के लिए उनका गणित मेल नहीं खा रहा है। राज्यसभा में १२३ वोटों के भरोसे चल रही भाजपा को पांचवें उम्मीदवार के लिए १२ से १३ अतिरिक्त वोट हासिल करना होगा। राज्यसभा में मिले मत इस बार मिलेंगे या नहीं? इसलिए यह गणित २२ से २३ अतिरिक्त मतों तक जा रहा है। विधायकों को होटल में रखने के बाद से शुरू बैठकों के दौर के बावजूद भाजपा का गणित मेल नहीं खा रहा है।
खडसे समर्थक विधायकों का डर
भाजपा द्वारा खडसे समर्थकों को टारगेट किया जा रहा होगा, फिर भी अपनी ही पार्टी में शामिल खडसे समर्थक विधायकों को रोकने के लिए भाजपा द्वारा उन्हें बार-बार समझाने का प्रयास चल रहा हैं। ऐसा हुआ भी तो गुप्त मतदान में खड़से समर्थक अंत समय में भाजपा को दगा दे सकते हैं, ऐसा डर भाजपा में बसा हुआ है। इसी दौरान जलगांव के विधायक संजय सावकारे और सुरेश भोले, खड़से को मतदान करेंगे, ऐसी खबर पैâल गई है।

अन्य समाचार