मुख्यपृष्ठनए समाचारमोदी राज में मथुरा नगरी की अनदेखी, बांके बिहारी मंदिर की गलियां...

मोदी राज में मथुरा नगरी की अनदेखी, बांके बिहारी मंदिर की गलियां हुई जानलेवा! छज्जा गिरने ५ श्रद्धालुओं की मौत

डॉ. कमलकांत उपमन्यु / मथुरा
खुद को हिंदुत्ववादी पार्टी बतानेवाली भारतीय जनता पार्टी और उसके कथित हिंदुत्व के दो बड़े चेहरे माने जानेवाले पीएम मोदी और सीएम योगी के राज में धर्म नगरी मथुरा उपेक्षित पड़ी है। जिसका खामियाजा श्रद्धालुओं को भुगतना पड़ रहा है। इसका उदाहरण कल मथुरा के विख्यात बांके बिहारी मंदिर परिसर में देखने को मिला। पूरा देश जब कल स्वतंत्रता दिवस मनाने में लगा था, उसी दौरान मथुरा के सुप्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर के पास एक बड़ा हादसा हो गया। वृंदावन में बांके बिहारी मार्ग स्थित स्नेह बिहारी जी मंदिर के पास एक तीन मंजिला जर्जर मकान का छज्जा गिरने से मलबे की चपेट में आए पांच लोगों की मौत हो गई।
बंदरों की हुल्लड़बाजी से गिरा छज्जा!
कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कई दर्जन बंदर आपस में लड़ रहे थे, जिससे यह छज्जा गिरने की घटना हुई और जिस समय छज्जा गिरा, उस समय वृंदावन में तेज बारिश हो रही थी, जिससे रेस्क्यू करने में काफी दिक्कत हुई। हादसा देख मौके पर कोहराम मच गया। आस-पास के लोग भागकर पहुंचे। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। मलबे में दबे लोगों को रेस्क्यू करके बाहर निकाला गया। एंबुलेंस न पहुंचने पर उन्हें तत्काल ई-रिक्शा की मदद से सौ शैया अस्पताल पहुंचाया गया। यहां जांच के बाद डॉक्टरों ने पांच लोगों को मृत घोषित कर दिया, जबकि कई लोगों का गंभीर हालत में इलाज चल रहा है। मृतकों में गीता कश्यप निवासी कानपुर, अरविंद कुमार निवासी कानपुर नगर, रश्मि गुप्ता निवासी कानपुर, अंजू मुगयी निवासी वृंदावन और एक अज्ञात शामिल है।

अन्य समाचार

लालमलाल!