मुख्यपृष्ठनए समाचारमौलवी ने माना: 'पाकिस्तान को पाकिस्तानियों और इस्लाम को मुसलमानों से...

मौलवी ने माना: ‘पाकिस्तान को पाकिस्तानियों और इस्लाम को मुसलमानों से है खतरा’

एजेंसी / इस्लामाबाद

नापाक पाकिस्तान हर बार धर्म के नाम पर शोर मचाता रहता है, लेकिन हकीकत वह नहीं है जो वो बताता रहता है। यही वजह है कि आज पाकिस्तानी ही अपने मुल्क के लिए मुसीबत बनता जा रहा है।
बता दें कि धर्म के नाम पर पूरी दुनिया में झूठ फैलानेवाले पाकिस्तान के अपने ही मौलवी ने कहा कि, सबसे ज्यादा खतरा तो खुद पाकिस्तान को पाकिस्तानियों से है। उन्होंने कहा कि, `मैंने बड़े-बड़े उलेमाओं से सुना है कि पाकिस्तान को पाकिस्तानियों से खतरा है और इस्लाम को मुसलमानों और मजहबी लोगों से खतरा है। लिबरल लोगों से भी हमें इतना खतरा नहीं है जितना मजहबी लोगों से है।’
पाकिस्तान के एक मौलवी ने जो कहा है वो भारत के कट्टरपंथी मुसलमानों को भी जरूर सुनना चाहिए, क्योंकि ये कट्टरपंथी मुसलमान पाकिस्तानी समर्थक हैं। और इन्हें इसके बारे में असलियत पता होनी चाहिए। जो वीडियो सामने आया है उसे सुन कर हर मुसलमान एक बार सोचने के लिए जरूर मजबूर हो जाएगा कि असल में इस्लाम को खतरा किससे है और किससे नहीं।
बता दें कि भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के दिए विवादित बयान के बाद इसे धार्मिक मुद्दा बनाते हुए कहा गया कि इस्लाम खतरे में है। भारत में बैठे कुछ कट्टरपंथी मुसलमानों ने पाकिस्तान के साथ मिलकर इस आग में घी डाला और जमकर हो-हल्ला मचाया। पाकिस्तान ने तो फेक न्यूज की बदौलत लोगों को गुमराह भी किया। उसी दौरान पाकिस्तान में हिंदू देवी-देवताओं के मंदिरों को तोड़ दिया गया। इसपर किसी ने कुछ नहीं बोला, लेकिन नूपुर शर्मा के बयान पर इतनी बड़ी आग क्यूं लगाई गई? पाकिस्तान को लग रहा है कि वो धर्म का ठेकेदार है तो यह उसकी गलतफहमी है। उसकी इसी हरकतों के चलते उसी के देश में आज इस्लाम के लिए खुद मुसलमान ही सबसे बड़ा खतरा बन गए हैं।

अन्य समाचार