मुख्यपृष्ठनए समाचार३० अप्रैल को पुणे में मविआ देगी विरोधियों को जवाब!...विपक्ष की ओर...

३० अप्रैल को पुणे में मविआ देगी विरोधियों को जवाब!…विपक्ष की ओर होगा मविआ का लाउडस्पीकर विपक्ष की ओर होगा मविआ का लाउडस्पीकर

• मविआ की विशाल जनसभा
• तीनों दल एक मंच पर रहेंगे उपस्थित
सामना संवाददाता / मुंबई । पिछले कुछ दिनों से लाउडस्पीकर और हनुमान चालीसा विवाद को लेकर विपक्ष की ओर से सत्ताधारी महाविकास आघाड़ी को लगातार निशाना बनाया जा रहा है। इसमें शामिल तीनों दलों के नेताओं एवं मंत्रियों पर भिन्न-भिन्न प्रकार के आरोप लगाए जा रहे हैं लेकिन अब महाविकास आघाड़ी में शामिल तीनों दलों ने विरोधियों को करारा जवाब देने का पैâसला किया है। आगामी ३० अप्रैल को पुणे में महाविकास आघाड़ीr की होने वाली विशाल जनसभा से विपक्ष को करारा जवाब दिया जाएगा। इस जनसभा के मंच पर महाविकास आघाड़ी के तीनों दल शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के वरिष्ठ नेता उपस्थित होंगे। माना जा रहा है कि इस सभा में मविआ के नेता विपक्ष को आड़े हाथों लेंगे और उन्हें तगड़ा जवाब देंगे।
राज्य में लाउडस्पीकर और हनुमान चालीसा को लेकर विपक्ष ने विवाद खड़ा कर दिया है। राज्य की शांति और व्यवस्था को बिगाड़ने का काम विपक्षी दल भाजपा और उसके अप्रत्यक्ष सहयोगी मनसे द्वारा किया जा रहा है। राणा दंपति को आगे कर विपक्ष राज्य में सुरक्षा व्यवस्था को खराब कर रही है। विपक्ष गंदी राजनीति करते हुए तरह-तरह के आरोप सत्ताधारी शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के नेताओं पर लगा रहा है। खुद को भगवाधारी कहने वाले नकली हिंदुत्व वालों की ओर से मविआ के कई नेताओं पर कमेंट किए जा रहे हैं, जिसे अब मविआ के नेता बर्दाश्त नहीं करेंगे।
आगामी ३० अप्रैल को पुणे के अलका टॉकीज चौक पर विशाल जनसभा होगी। बैठक में तीनों दलों के नेता और मंत्री शामिल होंगे। खास बात यह है कि उस समय नकली हिंदुत्ववादी लोग पुणे में ही होंगे। बता दें कि मनसे ने मस्जिद के लाउडस्पीकर की आवाज कम करने के लिए ३ मई तक का सरकार को अल्टीमेटम दिया है। इससे पहले ही हनुमान चालीसा विवाद में राणा दंपति पर कार्रवाई में हुई गिरफ्तारी से विपक्ष की हालत पतली हो गई। डरे हुए विपक्ष को मविआ के लोग और जोर का धक्का पुणे में देने की तैयारी में है।

अन्य समाचार