मुख्यपृष्ठसमाचारमेट्रो-३ कछुआ चाल!

मेट्रो-३ कछुआ चाल!

-ट्रायल में ही अटका है परियोजना प्रशासन

-एमएमआरडीए ने दी थी अप्रैल २०२३ की डेडलाइन

अभिषेक कुमार पाठक / मुंबई

आरे से कफ परेड तक चलने वाली अंडरग्राउंड मेट्रो का पहला चरण अप्रैल २०२३ में शुरू होने वाला है। इसी के मद्देनजर काम में तेजी लाई गई है और प्रशासन ने भी इस प्रोजेक्ट को काफी महत्व दिया है, लेकिन अब तक ट्रायल का आखिरी चरण शुरू नहीं किया गया है, यानी मेट्रो-३ का काम कछुआ चाल की गति से चल रहा है।
एमएमआरसी के एक अधिकारी ने बताया कि हर दिन ट्रेन की मूवमेंट हो रही है। कोई न कोई ट्रायल किया जा रहा है। हालांकि सीएमआरएस ट्रायल के लिए अब भी समय है, तो वहीं सूत्रों ने बताया कि ट्रायल का काम अब तक शुरू नहीं हो पाया है। यहां तक कि मेट्रो का आखिरी निरीक्षण भी बाकी है, जिसके लिए आरे का कारशेड बनना जरूरी है।
बता दें कि हाल ही में एमएमआरसी की मैनेजिंग डायरेक्टर अश्विनी भिड़े ने एक कॉन्क्लेव में कहा था कि अंडरग्राउंड मेट्रो लाइन ३ के विस्तार के लिए एक विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) को अंतिम रूप दिया गया है, जिसके अनुसार मेट्रो ३ अब कफ परेड तक ही नहीं बल्कि, नेवी नगर तक बनाई जाएगी। २.५ किलोमीटर की लंबाई वाले मेट्रो विस्तार में एक नए भूमिगत मार्ग का निर्माण शामिल होगा। यह भूमिगत मार्ग १.५ किलोमीटर की दूरी तय करेगा, जो प्रस्तावित नेवी नगर स्टेशन पर समाप्त होगा। इसी के साथ अब मेट्रो ३, दो चरणों की बजाय ३ चरणों में पूरा किया जाएगा।
इस प्रोजेक्ट में आरे का कारशेड काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है इसलिए कारशेड का काम भी काफी मायने रखता है। इसी के मद्देनज़र मुंबई मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (एमएमआरसी) के अधिकारी आरे कारशेड पहुंचकर काम का निरीक्षण किए, साथ ही मरोल मेट्रो स्टेशन का भी निरीक्षण किए।
बता दें कि मुख्यमंत्री शिंदे ने अंडरग्राउंड मेट्रो को लेकर घोषणा की थी कि दिसंबर में पहला चरण शुरू हो जाएगा, लेकिन काम पूरा नहीं होने की वजह से इस प्रोजेक्ट को अप्रैल में शुरू होने की बात कही गई। फिलहाल, मेट्रो का आखिरी निरीक्षण अब भी बाकी है इसलिए आरे का कारशेड बनना जरूरी है।
एमएमआरसी की मैनेजिंग डायरेक्टर अश्विनी भिड़े, डायरेक्टर (प्रोजेक्ट) सुबोध गुप्ता और डायरेक्टर (सिस्टम) राजीव ने अन्य अधिकारियों के साथ मरोल स्टेशन और आरे कारशेड के चल रहे काम का निरीक्षण भी किया।
मेट्रो ३ की कुल लंबाई: ३३.५ किमी (२७ स्टेशन)
फेज १ : आरे – बीकेसी (१० स्टेशन)
पहले चरण के स्टेशन
आरे, सीप्ज़, एमआईडीसी, मरोल नाका, इंटरनेशनल एयरपोर्ट , सहार रोड, डोमेस्टिक एयरपोर्ट, सांताक्रुज, विद्यानगरी और बीकेसी।

अन्य समाचार