मुख्यपृष्ठनए समाचारम्हाडा का दिवाली धमाका! ४ हजार घरों की निकलेगी लॉटरी

म्हाडा का दिवाली धमाका! ४ हजार घरों की निकलेगी लॉटरी

  • छोटे और मध्यम समूह के घर होंगे शामिल
  • अगले महीने जारी होगा विज्ञापन

नागेंद्र शुक्ला / मुंबई
म्हाडा घरों के लिए २०१९ से मुंबईवासियों का इंतजार जल्द खत्म होगा। म्हाडा प्राधिकरण ने दिवाली के दौरान मुंबई में लगभग ४,००० घरों की लॉटरी निकलाने का निर्णय लिया है। इसके मुताबिक मुंबई बोर्ड तैयारी शुरू कर दी है और इस ड्रा की आधिकारिक घोषणा जल्द होने की संभावना है।
मकान लोगों की पहली प्राथमिकता देने वाली महाविकास आघाड़ी सरकार द्धारा तैयार किए गए म्हाडा के ४,००० घर लॉटरी के लिए तैयार है। अधिकांश घर मुंबई के उपनगर में स्थित है। मुंबई जैसे महंगे शहर में किफायती आवास के अपने सपने को पूरा करने के लिए म्हाडा एकमात्र साधन है। यही कारण है कि म्हाडा की लॉटरी को भारी प्रतिक्रिया मिलती है।
म्हाडा के उपाध्यक्ष अनिल देगीकर के मुताबिक मुंबई में लगभग ४,००० घरों के लिए लॉटरी प्रक्रिया तैयार करने की तैयारी शुरू कर दी गई है। फिलहाल घरों की संख्या कम या ज्यादा हो सकती है क्योंकि ड्रॉ की तैयारी प्रारंभिक चरण में है लेकिन संभावना है कि दिवाली से डेढ़ से दो महीने पहले विज्ञापन जारी कर दिवाली ड्रा निकाला जाएगा। पहाड़ी गोरेगांव के ३,०१५ घरों में से २,६८३ छोटे और मध्यम समूहों के घरों को इस ड्रॉ में शामिल किए जाने की संभावना है। साथ ही कोले-कल्याण (सांताक्रुज), अंटाप हिल, विक्रोली आदि के मकान भी शामिल होंगे।
निर्माणाधीन परियोजनाओं में मकानों का आवंटन
म्हाडा ने ड्रा में चल रही निर्माण परियोजना में घरों को शामिल नहीं करने का फैसला किया था। म्हाडा ने यह फैसला इसलिए लिया था क्योंकि ऐसे घरों को समय पर पूरा करने में देरी या निवास प्रमाण पत्र प्राप्त करने में देरी के कारण कब्जे में देरी हुई थी। दिगीकर ने यह भी कहा कि अब इस फैसले में बदलाव किया जाएगा लेकिन चल रहे प्रोजेक्ट के घरों को अगले छह महीने या एक साल में ड्रॉ में शामिल कर लिया जाएगा। इससे पहले, म्हाडा की आवास परियोजनाओं को नगर पालिका से अधिभोग प्रमाण पत्र प्राप्त करना पड़ता था और इस प्रक्रिया में लंबा समय लगता था। लेकिन अब म्हाडा को योजना प्राधिकरण स्वयं है। इसलिए निवास प्रमाण पत्र प्राप्त करना आसान हो गया है। इसी पृष्ठभूमि में उन्होंने यह भी कहा कि छह महीने या एक साल में जो मकान बनकर तैयार होंगे, उन्हें ड्रॉ में शामिल किया जाएगा।

अन्य समाचार