मुख्यपृष्ठनए समाचारमंत्री अब्दुल सत्तार का है 'टीईटी ' घोटाला से संबंध! मेरे पास...

मंत्री अब्दुल सत्तार का है ‘टीईटी ‘ घोटाला से संबंध! मेरे पास है सबूत! नेता प्रतिपक्ष अंबादास दानवे का दावा

सामना संवाददाता / मुंबई
विधान परिषद के नेता प्रतिपक्ष अंबादास दानवे ने ‘टीईटी’ घोटाला के संदर्भ में कृषि मंत्री अब्दुल सत्तार की बोलती बंद कर दी है। हाल ही में अब्दुल सत्तार पर ‘टीईटी’ घोटाले का आरोप लगा है। इसके तहत उनके ऊपर आरोप लगा है कि उन्होंने गलत तरीके से अपने बच्चों को परीक्षा में पास करवाकर उनकी नौकरी लगवाई। हालांकि आरोप लगने के बाद सत्तार ने इसे बेबुनियाद बताया था। अब नेता प्रतिपक्ष दानवे ने दावा करते हुए कहा है कि अब्दुल सत्तार का ‘टीईटी’ घोटाला से संबंध है और इसका मेरे पास सबूत हैै।
विधान परिषद के नेता प्रतिपक्ष अंबादास दानवे ने कहा कि भ्रष्टाचार में शामिल नेताओं को ‘ईडी’ सरकार संरक्षण दे रही है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि टीईटी घोटाला में अनेक लोगों को परीक्षा दिए बिना उन्हें ‘टीईटी’ का प्रमाण पत्र मिला है। ऐसे अनेक मामले हैं। इस घोटाले में शामिल कई अधिकारियों को निलंबित किया गया था, फिर भी शिंदे-फडणवीस सरकार ने उन्हें पुन: नौकरी पर रख लिया है। राज्य के कैबिनेट मंत्री अब्दुल सत्तार की संस्था के १२ लोगों का नाम घोटाले में है, जिसका रिकॉर्ड मैंने विधान परिषद में रखा था लेकिन मुझे संतोषजनक उत्तर नहीं मिला, ऐसी प्रतिक्रिया नेता प्रतिपक्ष अंबादास दानवे ने दी है। दानवे ने कहा कि अब्दुल सत्तार ने कहा था कि मेरी बेटी ने कोई वेतन नहीं उठाया था लेकिन मेरे पास उसका प्रमाण है कि उनकी लड़की ने वेतन उठाया है। भ्रष्टाचार में शामिल नेताओं को शिंदे सरकार संरक्षण दे रही है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है। दानवे ने कहा कि अक्टूबर २०२१ में पुणे पुलिस की जांच में ‘टीईटी’ घोटाले का पर्दाफाश हुआ था। इस ‘टीईटी’ घोटाले में बड़े-बड़े अधिकारियों सहित कई नेताओं के शामिल होने का पर्दाफाश पुलिस ने किया था, जिसमें ‘ईडी’ सरकार में मंत्री अब्दुल सत्तार के नाम की भी चर्चा है।

अन्य समाचार