मुख्यपृष्ठनए समाचारअध्यापक ने किया प्रताड़ित : नाबालिग ने लगाया मौत को गले!

अध्यापक ने किया प्रताड़ित : नाबालिग ने लगाया मौत को गले!

• सुसाइड नोट में पूछे कई सवाल
• शिक्षिका और प्रधानाचार्य पर मामला दर्ज
सामना संवाददाता / रायबरेली
अक्सर परीक्षा में विद्यार्थी नकल करते हुए पकड़े जाते हैं और पकड़े जाने पर उन्हें दंडित करके छोड़ दिया जाता है। नकल करना एक छोटी गलती के रूप में माना जाता है। लेकिन रायबरेली के एक नाबालिग लड़के के लिए नकल करना जानलेवा साबित हो गया। उसके अध्यापकों ने उसे इतना प्रताड़ित किया कि वो मौत को गले लगाने पर मजबूर हो गया। सुसाइड से पहले लड़के ने बहुत ही हृदय विदारक सुसाइड नोट लिखा, जिसमें उसने कई सवाल पूछे हैं।
उसने लिखा, `मैंने पेपर में चीटिंग की। बायोलॉजी के पेपर में। मैं मरने जा रहा हूं। इसके लिए अंकल-आंटी, मम्मी-पापा को दोष मत देना। गलती करने के बाद किसी को एक मौका जरूर देना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं किया गया। मैं अपनी गलती पर खूब रोया। मैं शर्मिंदा था। मेरे साथियों ने भी शेम-शेम बोला। अब मेरा दिमाग मेरे वश में नहीं है। मुझे बुरे खयाल आ रहे हैं। मैं माता-पिता, साथियों व टीचर्स से सॉरी बोलता हूं।’ ऐसे कई सवालों को पूछने और अध्यापकों को सीख देने के लिए रायबरेली के सातवीं कक्षा के एक छात्र को खुदकुशी करनी पड़ी। उसने सुसाइड नोट में ये सवाल उठाए हैं।

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को बायोलॉजी की परीक्षा में शिक्षिका ने उसे नकल करते हुए पकड़ा था। शिक्षिका ने न केवल छात्र की पिटाई की, बल्कि सबके सामने उसे अपमानित करने के बाद अंतत: प्रधानाचार्य के पास ले गई। प्रधानाचार्य ने भी उसे अपमानित किया। इससे क्षुब्ध छात्र यश घर पहुंचा और किसी से बिना कुछ कहे ऊपरवाले कमरे में चला गया, जहां उसने सुसाइड नोट लिखने के बाद आत्महत्या कर ली।

पिता राजीव मौर्या समेत अन्य घरवालों ने आरोप लगाया कि यश ये सदमा बर्दाश्त नहीं कर सका। सीओ सदर वंदना सिंह ने बताया कि राजीव की शिकायत पर प्रधानाचार्य रजनाई डिसूजा और शिक्षिका मोनिका मागो पर केस दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि बछरावां कोतवाली इलाके के सेहगों गांव निवासी यश सिंह मौर्य (१२) जवाहर विहार कॉलोनी में अपने चाचा राजकुमार मौर्य के घर रहकर पांच वर्षों से पढ़ाई कर रहा था। वह कॉलोनी स्थित सेंट पीटर्स स्कूल में कक्षा सात का छात्र था। इस समय स्कूल में अर्द्धवार्षिक परीक्षाएं चल रही थीं।

अन्य समाचार