मुख्यपृष्ठनए समाचारनांदेड़ के अस्पताल में कुव्यवस्था : २४ घंटे में २४ मौत के...

नांदेड़ के अस्पताल में कुव्यवस्था : २४ घंटे में २४ मौत के लिए ‘घाती’ सरकार जिम्मेदार-आदित्य ठाकरे का बड़ा आरोप

रामदिनेश यादव / मुंबई
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली राज्य की ‘घाती’ सरकार के मंत्री विदेशों में टूर के लिए परेशान हैं, जबकि राज्य की समस्या से उनका दूर-दूर तक कोई वास्ता नहीं है। यही वजह है कि एक तरफ परेशान किसान आत्महत्या कर रहे हैं तो वहीं बदहाल अस्पताल खुद बीमार होने लगे हैं, जिसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ रहा है। हालात ऐसे हैं कि कई अस्पतालों में हर घंटे लोगों की मौत हो रही है।
पहले ठाणे के एक अस्पताल में एक दिन में २६ लोगों की मौत हुई, अब नांदेड़ के एक अस्पताल में २४ घंटे में २४ लोगों की मौत की खबर सामने आने से हड़कंप मच गया है। इसे लेकर राज्य की घाती सरकार के स्वास्थ्य मंत्री के कामकाज को लेकर सवाल उठाने लगे हैं। इस मामले पर शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता व विधायक आदित्य ठाकरे ने राज्य सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट कर घाती सरकार को आड़े हाथों लिया और कहा है कि इसमें नवजात शिशुओं की मौत बेहद दुखद है। उन्होंने कहा कि नांदेड़ शहर के सरकारी अस्पताल में २४ घंटे में २४ लोगों की मौत चौंकाने वाली खबर है। यह और भी गंभीर और चौंकाने वाली बात है कि मृतकों में १२ नवजात बच्चे शामिल हैं। सभी मृतकों को श्रद्धांजलि एवं संवेदना प्रकट करते हुए उन्होंने ईश्वर से प्रार्थना की कि मृतकों के परिजनों को इस दु:ख से उबरने की शक्ति प्रदान करें!

उन्होंने कहा कि माना जा रहा है कि समय पर दवा आपूर्ति नहीं होने के कारण मरीजों को अपनी जान गंवानी पड़ी। राज्यभर में निर्दोष लोगों को इसका परिणाम भुगतना पड़ रहा है। हमने इसके खिलाफ आवाज उठाई, पत्र लिखे, केईएम अस्पताल पर मोर्चा भी निकाला, लेकिन गद्दार सरकार चुप रही! ऐसा ही हादसा पहले ठाणे में हुआ, अब नांदेड़ में हुआ… देरी, उपेक्षा और उदासीनता के कारण बार-बार महाराष्ट्र के लोगों की जान से खिलवाड़ हो रहा है। इसी के साथ उन्होंने सवाल पूछा कि आखिर ऐसा कब तक होने दिया जाएगा?
पेज- ३ भी देखें

अन्य समाचार