मुख्यपृष्ठनए समाचारपॉक्सो आरोपी को बचाने के लिए पुलिस पर विधायक का दबाव ...शिंदे...

पॉक्सो आरोपी को बचाने के लिए पुलिस पर विधायक का दबाव …शिंदे गुट के नेता पर नाबालिग को छेड़ने का आरोप

महाड। शिंदे गुट के कार्यकर्ता द्वारा एक नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ करने का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। आरोपी का नाम विशाल चव्हाण है और वह खूद को महाड तालुका के कोल गांव का शाखा प्रमुख बताता है। इस मामले में राजनीति भी खुद हो रही है। बताया जा रहा है कि आरोपी को बचाने के लिए शिंदे गुट के स्थानीय विधायक भरत गोगावले ने पुलिस पर काफी दबाव डाला लेकिन शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) के पदाधिकारियों के विरोध के बाद पुलिस ने विशाल चव्हाण के खिलाफ पॉक्सो के तहत मामला दर्ज किया है। इस घटना का पूरे महाड तालुका में कड़ा विरोध किया जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार २८ जुलाई को विशाल चव्हाण कोल गांव गया था। उस समय एक पंद्रह वर्षीय लड़की अपने घर के बाहर बर्तन धो रही थी, उसकी मां खेत में काम करने गई थी। लड़की को अकेले पाकर विशाल ने उसका रेप करने का प्रयास किया। लेकिन लड़की के चिल्लाने पर उसकी बड़ी बहन वहां आ गई। यह देख विशाल चव्हाण मौके से भाग गया। इस घटना के बाद से लड़की के घर वाले काफी डरे हुए हैं। लड़की के परिजनों ने इस बात की शिकायत महाड पुलिस से की, लेकिन शिंदे गुट के नेताओं ने अपने पद का इस्तेमाल करते हुए पुलिस पर केस दर्ज नहीं करने का दबाव बनाना शुरू कर दिया। इस मामले में केस दर्ज न करने के लिए महाड के विधायक भरत गोगावले और शिंदे समूह के पदाधिकारियों ने पीड़ित परिवार के साथ-साथ पुलिस पर भी काफी दबाव बनाया। लेकिन शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) के पदाधिकारी पीड़ित परिवार के साथ खड़े थे, उन्होंने पुलिस को शिकायत दर्ज करने के लिए मजबूर किया। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी विशाल के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया।

अन्य समाचार