मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनाएमएमआरडीए ने बनाई घटिया सीमेंट की सड़कें!

एमएमआरडीए ने बनाई घटिया सीमेंट की सड़कें!

कल्याण-बदलापुर हाईवे इन दिनों वाहन चालकों के लिए असुविधाजनक और जानलेवा साबित हो रहा है। कल्याण-बदलापुर हाईवे को सीमेंट से बनाया गया है। एमएमआरडीए ने सीमेंट सड़कें इस उद्देश्य से बनाई हैं कि उन्हें लगभग २५ वर्षों तक सीमेंट सड़कों की ओर नहीं देखना पड़ेगा, लेकिन कल्याण-बदलापुर हाईवे पर उल्हासनगर से अंबरनाथ तक सीमेंट की सड़क बेहद खराब हालत में है। सड़कों पर गड्ढों के साथ दरारें भी हैं, जिससे अक्सर दुर्घटनाएं हो रही हैं।

राजमार्ग पर दर्जनों बिजली के खंभे

‘दोपहर का सामना’ के सिटीजन रिपोर्टर राजेश भाटिया ने कल्याण-बदलापुर हाईवे को समस्याओं से भरी सड़क बताया और कहा कि कल्याण-बदलापुर हाईवे पर उल्हासनगर से अंबरनाथ तक की सड़क बेहद दयनीय स्थिति में है। एमएमआरडीए ने कल्याण-बदलापुर हाईवे को सीमेंट से बनाया है। उल्हासनगर से अंबरनाथ सीमा तक सड़क की हालत खस्ता है। मटका चौक, अंबरनाथ रेलवे स्टेशन मार्ग, अंबरनाथ पुलिस स्टेशन मार्ग जैसे अन्य चौकों के पास सड़क की स्थिति खराब है। सड़कों पर गड्ढे हैं। सड़क में दरारें पड़ गई हैं, जिससे आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं। राजेश भाटिया ने आगे कहा कि कल्याण-बदलापुर राजमार्ग पर अंबरनाथ पुलिस स्टेशन से शहीद कामगार पुतला चौक के बीच सड़क के विस्तार से पहले महाराष्ट्र विद्युत महावितरण दर्जनों बिजली के खंभों को हटाने के बारे में नहीं सोच रहा है।

हो रही है लीपापोती

अंबरनाथ-पश्चिम की महाराष्ट्र विद्युत महावितरण कंपनी की कार्यकारी अभियंता श्रीमती कावड़े यह कहते हुए अपना पल्ला झाड़ लेती हैं कि पोल हटाने के संबंध में एमएमआरडीए, बांद्रा के मुख्य कार्यालय को जानकारी दे दी गई है। उन्हें ही उपरोक्त कार्य करना होगा। इसी तरह से उल्हासनगर स्थित महाराष्ट्र सरकार के लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता का कहना है कि उन्हें कल्याण-बदलापुर राजमार्ग की मरम्मत का अधिकार नहीं है। इसकी देखभाल का अधिकार एमएमआरडीए बांद्रा को है। यानी एक तरह से एक दूसरे पर जिम्मेदारी धकेल कर अपने काम से जी चुराने का काम हो रहा है।

अन्य समाचार