मुख्यपृष्ठनए समाचारमोदी का प्रचार, धार्मिक और व्यक्तिगत!.. नेता चले गए, कार्यकर्ता उद्धव के...

मोदी का प्रचार, धार्मिक और व्यक्तिगत!.. नेता चले गए, कार्यकर्ता उद्धव के साथ… शरद पवार की तीखी प्रतिक्रिया

सामना संवाददाता / मुंबई

चुनाव की शुरुआत में ही बीजेपी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हवा तैयार कर ली थी। जब वास्तविक मतदान प्रक्रिया शुरू हुई तो भाजपा को एहसास हुआ कि जनता उसके खिलाफ जा रही है। इसीलिए मोदी ने परोक्ष,धार्मिक, व्यक्तिगत स्तर पर प्रचार और हमले शुरू कर दिए। मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में राकांपा (शरदचंद्र पवार) अध्यक्ष शरद पवार ने कहा, इसीलिए वे और गहराई में गए। उन्होंने दावा किया कि जहां राकांपा और शिवसेना के नेता भाजपा के साथ चले गए हैं, वहीं आम कार्यकर्ता मूल पार्टी शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) के साथ हैं।
पवार ने कहा कि मतदान प्रक्रिया के सात में से चार चरण समाप्त होने के बाद मोदी के प्रति लोगों की रुझान कम होत दिख रहा है। खासकर किसान और युवा बीजेपी के खिलाफ हो गए हैं। इस बात की ओर मोदी ने भी इशारा किया है। इससे हिंदू-मुस्लिम प्रचार को धार्मिक रंग मिल गया। मैंने व्यक्तिगत स्तर पर उद्धव ठाकरे या मुझ पर भटकती आत्मा, नकली शिवसेना कहकर हमला करना शुरू कर दिया। पवार ने राय जताई कि ये सब बीजेपी के पीछे हटने के लक्षण हैं। मैं व्यक्तिगत हमलों का आदी हूं। अन्ना हजारे, खैरनार ने मुझ पर कितना बड़ा आरोप लगाया। आज कहां हैं अन्ना हजारे? उन्होंने अपना अनुभव बताते हुए कहा कि अगर व्यक्तिगत आरोप भी लगाए जाएं तो मतदाता उसे गंभीरता से नहीं लेते हैं।

अन्य समाचार