मुख्यपृष्ठनए समाचारमानसून...कमिंग सून! १५ जून को देगा देश में दस्तक

मानसून…कमिंग सून! १५ जून को देगा देश में दस्तक

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
भारत तप रहा है। देश का ज्यादातर हिस्सा इस समय झुलसा देनेवाली गर्मी और लू की चपेट में है। इस साल मार्च और अप्रैल के साथ ही मई के महीने ने गर्मी का रिकॉर्ड तोड़ दिया। यहां तक कि जून की गर्मी ने भी लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है।
चिलचिलाती गर्मी से परेशान लोगों को अब मानसून का बेसब्री से इंतजार है। तपती गर्मी से परेशान लोगों के लिए मानसून को लेकर एक बड़ी खुशखबरी है। मौसम विभाग की मानें तो १५ जून से मानसून के जोर पकड़ने की संभावना है।
इस दौरान देश के मध्यवर्ती हिस्सों और उत्तरी मैदानी इलाकों में भी वर्षा होने की संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग के मुताबिक अरब सागर से आनेवाली पश्चिमी हवाओं के कारण अगले ५ दिन के दौरान कर्नाटक, केरल और लक्षद्वीप में भारी बारिश की संभावना है। मौसम कार्यालय ने बुधवार को दक्षिणी कर्नाटक जबकि तटीय कर्नाटक और केरल में शनिवार तक अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश की संभावना जताई है। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, झारखंड, तेलंगाना और मध्य प्रदेश में आज गुरुवार को भी लू का सामना करना पड़ेगा जबकि ओडिशा में शुक्रवार तक लू का प्रकोप जारी रहने की संभावना है।
दिल्ली में जल्द मिलेगी राहत
दिल्ली के कई हिस्सों में बुधवार को लगातार छठे दिन भी भीषण लू का प्रकोप दर्ज किया गया हालांकि भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि २ दिनों में कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। मिली जानकारी के अनुसार मानसून के १५ जून तक पूर्वी भारत पहुंचने की उम्मीद के साथ, पूर्वी हवाएं नमी लाएंगी और उत्तर-पश्चिम भारत में मानसून पूर्व गतिविधि को तेज करेंगी। स्काईमेट वेदर के उपाध्यक्ष (जलवायु परिवर्तन और मौसम विज्ञान) महेश पलावत ने कहा कि मानसून की प्रचलित तारीख २७ जून के आसपास दिल्ली पहुंचने की संभावना है। ऐसी कोई प्रणाली नहीं है जो इसकी प्रगति बाधित हो सकेगी। उन्होंने कहा कि इसको लेकर एक या दो हफ्ते में तस्वीर साफ हो जाएगी।

अन्य समाचार