मुख्यपृष्ठसमाचारथैलेसीमिया की निकलेगी काट .... मुफ्त में होगा बोन मैरो ट्रांसप्लांट

थैलेसीमिया की निकलेगी काट …. मुफ्त में होगा बोन मैरो ट्रांसप्लांट

• कोकिलाबेन अंबानी अस्पताल में होगी सुविधा
सामना संवाददाता / मुंबई
थैलेसीमिया का काट निकालने के लिए मुंबई के कोकिलाबेन अंबानी अस्पताल में बीमारी से जूझ रहे रोगियों का नि:शुल्क बोन मैरो ट्रांसप्लांट होगा। इसके लिए अस्पताल का कोल इंडिया के साथ करार हुआ है। बोन मैरो सर्जरी का खर्च केंद्र के अखिल भारतीय कार्यक्रम थैलेसीमिया और अप्लास्टिक एनीमिया बाल सेवा योजना के तहत वहन किया जाएगा। बता दें कि यह अस्पताल इस राष्ट्रव्यापी योजना के तहत पैनल में शामिल नौ अस्पतालों में से एक है।

ट्रांसप्लांट में रु.२० लाख का खर्च
बोन मैरो ट्रांसप्लांट में लगभग २० लाख रुपए का खर्च आता है। खर्च अधिक होने और इसे वहन न कर पाने से मरीज बोन मैरो के लिए आगे नहीं आते हैं। अब यह सुविधा सभी ग्रामीण क्षेत्रों के मरीजों के लिए भी उपलब्ध होगी। हालांकि इसके लिए मरीजों के परिजनों को शर्तों को पूरा करना होगा। इन शर्तों का उल्लेख राज्य सरकार के हाल ही में स्वीकृत पत्र में किया गया है।

सीएसआर से मिलेंगे रु.१० लाख
कोल इंडिया लिमिटेड अपने सीएसआर प्रोजेक्ट से पीड़ित बच्चों का बोन मैरो ट्रांसप्लांट करने के लिए १० लाख रुपए तक की आर्थिक मदद करेगा। इसी तरह शेष खर्च सामाजिक संस्थाओं द्वारा वहन किया जाएगा।

राज्य में जारी ११ हजार हेल्थ कार्ड
राज्य सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र में थैलेसीमिया के मरीजों को करीब ११ हजार हेल्थ कार्ड जारी किए जा चुके हैं। राज्य के पास अप्लास्टिक एनीमिया के मरीजों का कोई आंकड़ा नहीं है। अनुमानित आंकड़ों के मुताबिक देश में हर साल लगभग ९,४०० नागरिक अप्लास्टिक एनीमिया से पीड़ित होते हैं।

अन्य समाचार