मुख्यपृष्ठनए समाचारमुंबई मॉडल का विश्व में बजा डंका...मूलभूत सुविधाओं में भी हुई सरस

मुंबई मॉडल का विश्व में बजा डंका…मूलभूत सुविधाओं में भी हुई सरस

• नगरविकास मंत्री ने की सराहना
सामना संवाददाता / मुंबई । शिक्षा और स्वास्थ्य के साथ ही सड़क, पुल, पानी जैसी बुनियादी सुविधाएं मुहैया करनेवाली मनपा ने सबसे भयावह महामारी कोरोना को कंट्रोल में लाकर मुंबई मॉडल का समूचे विश्व में डंका बजा दिया है। मनपा ने मुंबई मॉडल का एक सफल उदाहरण पेश किया है। कई देशों ने मुंबई मॉडल की नकल करते हुए उसे लागू किया। इस मॉडल ने वहां भी अपना कमाल दिखा दिया। मनपा की इस कार्यशैली का नगरविकास मंत्री एकनाथ शिंदे ने सराहना की है।
सूचना-संपर्क के लिए वॉर रूम
बजट सत्र के अंतिम सप्ताह में नगरविकास राज्य मंत्री प्राजक्ता तानपुरे ने कहा था कि कोरोना काल में मुंबई मनपा ने बहुत बढ़िया तरीके से काम किया है। कोरोना वायरस के वैरिएंट की जानकारी न होने से शुरुआती समय में थोड़ी दिक्कतें आर्इं। हालांकि मनपा ने सफलतापूर्वक उसे मात देते हुए आम लोगों तक स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचार्इं। प्रत्येक वॉर्ड स्तर पर वॉर रूम और निजी अस्पतालों में ८० फीसदी बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व कर उपचार की गति बढ़ा दी।
ऑक्सीजन में आत्मनिर्भर बनीं मनपा
मरीजों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मुहैया कराने के लिए ऑक्सीजन प्लांट को तैयार किया गया। इसके जरिए मनपा ऑक्सीजन में आत्मनिर्भर बन गई। इस प्रकार हर तरह से आत्मनिर्भर बनकर लोगों की जान बचाई गई है। इस तरह के बुनियादी ढांचा तैयार करने के लिए पारदर्शी तरीके से निविदाएं आमंत्रित कर तत्काल काम किया गया।
मीठी नदी की प्रवाह क्षमता में वृद्धि
मीठी नदी की प्रवाह क्षमता बढ़ाने को प्राथमिकता दी गई। इससे नदी की क्षमता दोगुनी हो गई है। नदी को चौड़ा करने, कीचड़ निकालने और सुरक्षा दीवार बनाने का काम चल रहा है। दीवार निर्माण का कार्य ८० प्रतिशत पूर्ण है, जबकि अन्य कार्य ९० प्रतिशत पूर्ण हैं। इससे बारिश के पानी की निकासी तेज होगी। मंत्री तानपुरे ने कहा कि एमएमआरडीए और मुंबई मनपा ने मिलकर इसके लिए १,२५० करोड़ रुपए खर्च किए।

अन्य समाचार