मुख्यपृष्ठनए समाचारनहीं डूबेगी मुंबई ... पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने दौरा कर किया...

नहीं डूबेगी मुंबई … पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने दौरा कर किया कामों का निरीक्षण

  •  बारिश के पानी से मिलेगी मुक्ति
  • हिंदमाता और मिलन सबवे की तरह अन्य स्थानों पर होंगे उपाय

सामना संवाददाता / मुंबई
भारी बारिश के दौरान जलभराव से राहत दिलाने के लिए मिलन सबवे को राहत देने के लिए जल संचयन जलाशय पर काम जोरों से शुरू है। इस साल इसका अस्थायी रूप से इस्तेमाल किया जा सकेगा। इससे सांताक्रुज क्षेत्र के नागरिकों को राहत मिलेगी। हिंदमाता और मिलन सबवे में भंडारण जलाशय कार्यों की तर्ज पर मुंबई स्थित जल संचयन जलाशय योजना की तर्ज पर मुंबई के अन्य स्थानों पर भी इसी तरह के उपाय की योजनाएं की जाएंगी। इस तरह की उद्गार पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने व्यक्त किया। सांताक्रुज  स्थित मिलन सबवे परिसर में जोरदार बारिश के दौरान होनेवाले जलभराव की स्थिति पैदा हो जाती है। ऐसे में बारिश के पानी को यहां से निकालने के लिए मनपा के वर्षा जल निकासी विभाग द्वारा मिलन सबवे के पास लायंस क्लब मैदान में भंडारण जलाशय का निर्माण किया जा रहा है। इस जलाशय के शुरू कामों का निरीक्षण करने के लिए पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने कल दोपहर दौरा किया। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से भी संवाद स्थापित किया। दौरे में अतिरिक्त मनपा आयुक्त (परियोजना) पी. वेलारसु, उपायुक्त (अवसंरचना) उल्हास महाले, मुख्य अभियंता (वर्षा जल) अशोक मेस्त्री सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।
एकत्रित किया जाएगा बारिश का पानी
पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने आगे कहा कि हिंदमाता क्षेत्र को बारिश के पानी से मुक्ति दिलाने के लिए सेंट जेवियर्स मैदान और प्रमोद महाजन उद्यान में जलाशयों का निर्माण किया गया है। गांधी मार्केट  में भी इसी तरह के उपाय किए गए हैं। भारी बारिश के कारण जमा पानी को निकालकर इन जलाशयों में एकत्रित किया जाएगा। इसी तरह के उपाय मिलन सबवे में भी किए जा रहे हैं। इसलिए भारी बारिश के दौरान हिंदमाता, गांधी मार्केट और मिलन सबवे को बारिश के रुके हुए पानी से राहत मिलेगी। पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि कुल मिलाकर मुंबई में मानसून के दौरान आपदा की स्थितियों को कम करने के लिए विभिन्न उपाय किए गए हैं।
तीन हजार क्यूबिक मीटर प्रति घंटे की क्षमतावाले लगेंगे दो पंप
मिलन सबवे के भंडारण जलाशय की क्षमता लगभग २० करोड़ लीटर है। मिलन सबवे क्षेत्र में भारी बारिश की स्थिति में पानी को पंप कर इस जलाशय में भंडारण किया जाएगा। इसके लिए ३,००० क्यूबिक मीटर प्रति घंटे की क्षमतावाले कुल दो लिफ्टिंग पंप कार्यान्वित किए जाएंगे। इसका मतलब यह है कि ६,००० क्यूबिक मीटर प्रति घंटे की क्षमता से पानी को पंप किया जा सकेगा। इस जलाशय का काम इस साल ८ अप्रैल से शुरू कर दिया गया है। ७० मीटर बाय ५५ मीटर आकारवाले इस जलाशय की गहराई लगभग १०.५ मीटर होगी। अब तक खुदाई का लगभग ७० प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। जुलाई के अंत तक भंडारण जलाशय को अस्थाई रूप से प्रत्यक्ष उपयोग में लाया जा सकेगा।
बोरीवली में उड़ान पुल का आज लोकार्पण
मनपा द्वारा निर्माण किए गए बोरिवली (पश्चिम) के आर. एम. भट्टड मार्ग पर स्थित उड़ान पुल का आज शाम पांच बजे पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे के हाथों लोकार्पण किया जाएगा। कार्यक्रम में उद्योग, खनन और मराठी भाषा राज्य मंत्री सुभाष देसाई, स्कूल  शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़, परिवहन एवं संसदीय कार्य मंत्री एड. अनिल परब, कपड़ा, मत्स्य पालन, बंदरगाह मंत्री असलम शेख आदि उपस्थित रहेंगे, वहीं मनपा आयुक्त व प्रशासक डॉ. इकबाल सिंह चहल की अध्यक्षता में समारोह होगा। बता दें कि ९३७ मीटर लंबे इस उड़ान पुल पर मनपा ने १७३ करोड़ रुपए खर्च किया है।
प्रोजेक्ट्स कमांड सेंटर का किया निरीक्षण
वर्ली स्थित मनपा के लवग्रोह प्रोसेस सेंटर के निकट निर्माणधीन प्रोजेक्ट्स कमांड सेंटर और बी. जी. खेर मार्ग के पुनर्निर्माण कार्य का पर्यटन आदित्य ठाकरे ने कल दोपहर दौरा कर निरीक्षण किया। इसी तरह उन्होंने महालक्ष्मी मंदिर के पास कैडबरी  जंक्शन और केम्प्स कॉर्नर उड़ान पुल के नीचे जंक्शन के सौंदर्यीकरण का भी निरीक्षण करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिया।
जल्द शुरू होगा केम्प्स कॉर्नर का काम
साल १९६५ में बनाए गए हिंदुस्थान के केम्प्स कॉर्नर का पहला उड़ान पुल दक्षिण मुंबई की तरफ आने के लिए महत्वपूर्ण है। इस उड़ान पुल के नीचे स्थित जगह यानी केम्प्स कॉर्नर जंक्शन व चौक का सौंदर्यीकरण का काम जल्द शुरू किया जाएगा।
कैडबरी  जंक्शन का प्रस्तावित सौंदर्यीकरण
महालक्ष्मी मंदिर के पास भुलाभाई देसाई मार्ग पर कैडबरी जंक्शन का सौंदर्यीकरण मनपा के डी वार्ड द्वारा किया जाएगा। यातायात में उचित मार्गदर्शन होने के साथ ही इस चौक और महालक्ष्मी मंदिर क्षेत्र में आनेवाले भक्त अधिक से अधिक सुरक्षित तरीके से चल सकेंगे। इस तरह का निर्देश आदित्य ठाकरे ने दिया।

अन्य समाचार