मुख्यपृष्ठखबरेंसीरो सर्वे में मुंबईकर हीरो! एंटीबॉडी से भरपूर हैं प्रिकॉशन डोज लेनेवाले,...

सीरो सर्वे में मुंबईकर हीरो! एंटीबॉडी से भरपूर हैं प्रिकॉशन डोज लेनेवाले, ९९.९३ कर्मचारियों में मौजूद है रोग प्रतिरोधक क्षमता

सामना संवाददाता / मुंबई। कुछ समय पहले तक दम तोड़ता नजर आ रहा कोरोना नए रूप में नए वैरिएंटों के जरिए एक बार फिर दुनिया को डराने लगा है। हालांकि सतर्क महाराष्ट्र सरकार व मुंबई मनपा के प्रयासों से मुंबई सहित महाराष्ट्र में इसका प्रभाव उतना नहीं दिख रहा है। वैश्विक महामारी कोरोना के वायरस को लेकर मनपा ने स्वास्थ्य कर्मियों और प्रâंटलाइन वर्कर्स को छठे सीरो सर्वेक्षण में शामिल किया और उनके खून के नमूनों की जांच कर एंटीबॉडी का पता लगाया गया। मुंबई में एंटीबॉडी के स्तर को निर्धारित करनेवाला यह पहला सर्वेक्षण था। सर्वेक्षण में शामिल कुल ३,०९९ लोगों में से ३,०९७ यानी ९९.९३ प्रतिशत कर्मचारियों में एंटीबॉडी मिले। विशेष रूप से टीका लगवा चुके कर्मचारियों की तुलना में प्रिकॉशन डोज लेनेवाले कर्मचारियों में एंटीबॉडी का स्तर अधिक पाया गया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कहा गया है कि छह महीने में एंटीबॉडी के स्तर को मापने के लिए एक बार फिर इन्हीं कर्मचारियों का एक और सर्वेक्षण होगा। संभवत: इस तरह का हिंदुस्थान में पहला सर्वेक्षण है। टीकाकरण का प्रभाव कितने समय और वैâसे बना रहता है, इसका अध्ययन समूचे टीकाकरण के लिए एक दिशा-दर्शक बन सकता है।

अन्य समाचार