मुख्यपृष्ठनए समाचारमुंबईकरों को कोरोना की नहीं है कोई परवाह, केवल १५ प्रतिशत ने...

मुंबईकरों को कोरोना की नहीं है कोई परवाह, केवल १५ प्रतिशत ने लिया बूस्टर डोज

सामना संवाददाता / मुंबई

ढाई सालों तक परेशान करनेवाला कोरोना एक बार फिर तेजी से बढ़ने लगा है। इस बीच यह जानकारी सामने आई है कि मुंबईकरों को बढ़ते कोरोना की कोई चिंता नहीं है। दूसरी तरफ कोरोना वैक्सीन की बूस्टर खुराक १० जनवरी २०२२ से शुरू की गई थी। इसके तहत ९४ लाख पात्र लाभार्थियों में से केवल १५ से १६ प्रतिशत ने बूस्टर खुराक ली है। यह बूस्टर खुराक मनपा, निजी और सरकारी समेत कुल ९४ केंद्रों पर मुफ्त दी जा रही है। इसलिए मनपा के स्वास्थ्य विभाग ने पात्र लाभार्थियों से कोरोना वैरिएंट के खतरे से बचने के लिए बूस्टर खुराक लेने की अपील की है।
ज्ञात हो कि मुंबई में मार्च २०२० में कोरोना महामारी ने दस्तक दी थी। इसके करीब एक साल बाद १६ जनवरी २०२१ को कोरोना टीकाकरण शुरू हुआ था। इसमें १८ वर्ष से अधिक आयु के पात्र लाभार्थियों के लिए पहली और दूसरी दोनों खुराकें दी जा चुकी हैं। हालांकि स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सुझाव दिया है कि कोरोना वैरिएंट से निपटने के लिए ‘बूस्टर डोज’ की आवश्यकता है। ऐसे में २८ अप्रैल २०२३ से ६० वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों और २३ जून २०२३ से स्वास्थ्य कर्मियों और प्रâंटलाइन वर्कर्स को पहली बार नाक से कोरोना वैक्सीन की ‘बूस्टर डोज’ देना शुरू किया गया। फिलहाल अब यह खुराक १८ से ५९ वर्ष के आयु वर्ग के लाभार्थियों को भी दी जा रही है। इस सबके बीच पता चला है कि इसे बहुत कम रिस्पॉन्स मिल रहा है। दूसरी ओर जरूरत पड़ने पर मनपा केंद्रों का विस्तार करने को भी तैयार है। लेकिन लाभार्थियों की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिलने से टीकाकरण सुस्त पड़ गया है।

मौके पर ही मिलेगा टीके का लाभ

राज्य सरकार की गाइडलाइन के अनुसार मनपा द्वारा एक नवंबर से इंकोवैक वैक्सीन की बूस्टर डोज दी जा रही है। इंकोवैक वैक्सीन की यह प्रिकॉशन डोज कोविशील्ड या कोवैक्सीन की दूसरी खुराक के छह महीने बाद दी जा सकती है। कोविशील्ड या कोवैक्सीन के अलावा किसी अन्य वैक्सीन के लिए प्रिकॉशन डोज के रूप में इंकोवैक वैक्सीन नहीं दी जा सकती है।

इस तरह है वैक्सीनेशन की मौजूदा स्थिति

अब तक १४,९०,५९५ लोगों ने बूस्टर खुराक ली है, जबकि नवंबर से अब तक १२३ लोगों को कोरोना प्रतिबंधात्मक खुराक नाक से दी गई है। २४ मनपा केंद्र, २० सरकारी केंद्र और ५० निजी केंद्रों सहित कुल ९४ केंद्रों पर कोरोना वैक्सीन की बस्टर खुराक दी जा रही है।

अन्य समाचार