मुख्यपृष्ठनए समाचारमुंबई का `पानी' आधा हो गया, पानी कटौती पर संकट के बादल!

मुंबई का `पानी’ आधा हो गया, पानी कटौती पर संकट के बादल!

 आधे खाली हुए मुंबई के तालाब
 संभालकर करें पानी का प्रयोग
 पिछले वर्ष की तुलना में २० दिन कम जल भंडारण
सामना संवाददाता / मुंबई
गर्मी के मौसम में मुंबईकरों को पानी कटौती पर संकट के बादल छाए हुए हैं, क्योंकि जलापूर्ति करनेवाले सात जलाशयों में पानी का भंडारण घटकर आधा हो गया है। साथ ही १२ फरवरी को २० दिनों का जल भंडारण पिछले साल की तुलना में कम है। इसके अलावा यह भी डर भी जताया जा रहा है कि भीषण गर्मी के कारण वाष्पीकरण तेज होने पर हर साल जून में होनेवाली १० से १५ फीसदी पानी की कटौती इस साल मई महीने से लागू की जा सकती है।
मुंबई में इस पानी की कटौती की चिंता के कारण मुंबईकरों का ध्यान इस बात पर केंद्रित हो गया है कि मनपा जलापूर्ति का नियोजन वैâसे करती है। ऐसे में कहा जा रहा है कि इस साल पानी संभालकर इस्तेमाल करें, अन्यथा पेयजल संकट का सामना करना पड़ सकता है।
मुंबई में पिछले कुछ वर्षों से मानसून के सक्रिय होने में देरी के कारण तालाब अपनी तलहटी में पहुंच रहे हैं। इसलिए मनपा जून से जुलाई तक एक से दो महीने के लिए १० से २० प्रतिशत पानी की कटौती लागू करके जलापूर्ति का नियोजन करती है। साल २०२३ में भी १ जुलाई से १० फीसदी पानी कटौती लागू की गई थी। इसके बाद जलाशयों में संतोषजनक बारिश के बाद ८ अगस्त से पानी की कटौती वापस ले ली गई। इसके अलावा साल २०२२ में पानी की कटौती २७ जून से लागू की गई, क्योंकि जल भंडार ११ फीसदी तक कम हो गया था।
हालांकि, जुलाई की शुरुआत से जलाशय क्षेत्रों में भारी बारिश के कारण दो सप्ताह के बाद पानी की कटौती वापस ले ली गई थी। इस बीच मुंबई की दैनिक जलापूर्ति को देखते हुए इस वर्ष वर्तमान में अगले १८८ दिनों यानी अगस्त के मध्य तक पर्याप्त जल आपूर्ति है। हालांकि, यदि पिछले कुछ वर्षों की तरह इस साल भी बरसात देरी से होती है तो जलापूर्ति कटौती जल्द ही लागू किए जाने का डर है।
ऐसी है स्थिति
मुंबई में मनपा के माध्यम से सात जलाशयों अपर वैतरणा, मोडक सागर, तानसा, मध्य वैतरणा, भातसा, विहार और तुलसी से प्रतिदिन ३,८५० मिलियन लीटर पानी की आपूर्ति की जाती है। पिछले साल सभी सात जलाशयों में ७,९९,२७९ मिलियन लीटर पानी था। हालांकि इस वर्ष ७,२२,००६ मिलियन लीटर जल भंडारण उपलब्ध है। यह पिछले साल की तुलना में ७७,२७३ मिलियन लीटर कम है।

अन्य समाचार

कुदरत

घरौंदा