मुख्यपृष्ठनए समाचारहाई कोर्ट के आदेश के बाद जागा मनपा प्रशासन... मीठी नदी होगी...

हाई कोर्ट के आदेश के बाद जागा मनपा प्रशासन… मीठी नदी होगी ३०० मीटर चौड़ी… हटाए गए १४९ स्ट्रक्चर

सामना संवाददाता / मुंबई

मुंबई मनपा में जब से प्रशासक नियुक्त हुआ है, तब से बिना कोर्ट के आदेश के प्रशासन की नींद नहीं खुलती है। हाई कोर्ट ने मुंबई की नामचीन मीठी नदी पर बने स्ट्रक्चर्स को हटाने का आदेश मनपा प्रशासन को दिया है, उसके बाद मनपा प्रशासन ने मीठी नदी के किनारे बने स्ट्रक्चर को हटाने का काम गत शुक्रवार से शुरू किया है। हाई कोर्ट के आदेश के बाद अब मनपा ने सांताक्रुज – चेम्बूर रोड पर कुर्ला पश्चिम के पास मीठी नदी से सटे १४९ स्ट्रक्चर्स को हटाने का काम किया है। इससे यहां सकरी हो चुकी मीठी नदी को चौड़ा किया जा सकेगा। मनपा के अनुसार, ८ हजार वर्ग मीटर जगह रिक्त होगी, इस जगह का उपयोग मीठी नदी की चौड़ाई ३०० मीटर करने के लिए किया जाएगा।
उल्लेखनीय है कि क्षेत्र में मीठी नदी चौड़ीकरण परियोजना में बाधा बन रहे कुल १४९ स्ट्रक्चर्स को हटाने का कार्य शुक्रवार और शनिवार लगातार दो दिनों तक किया गया। उच्च न्यायालय द्वारा आदेश दिए जाने के बाद एल वार्ड की ओर से सांताक्रूज़-चेंबूर रोड पर मीठी नदी से सट ेस्ट्रक्चर्स को हटाने की कार्रवाई की गई। मनपा आयुक्त भूषण गगरानी और अतिरिक्त नगर आयुक्त अमित सैनी ने कुछ दिनों पहले परियोजना स्थल का निरीक्षण किया था और कोर्ट के आदेशानुसार, इन अतिक्रमणों को हटाने का आदेश दिया था।
एक अधिकारी ने बताया कि परियोजना स्थल पर उक्त स्ट्रक्चर्स को हटाने के मामले को लेकर लगातार स्थानीय लोग विरोध कर रहे थे। लंबी कानूनी लड़ाई के बाद विभिन्न विभागों के बीच अच्छे समन्वय के साथ उक्त स्ट्रक्चर्स को हटाने का काम किया गया।
बचे हुए निर्माणों को कानूनी प्रक्रिया पूरी कर हटाने का काम शुरू होगा। इसके साथ ही सड़क विभाग को लालबहादुर शास्त्री मार्ग से मीठी नदी क्षेत्र तक बॉक्स ड्रेन का कार्य भी तत्काल करने का निर्देश वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा दिया गया है। इस बारे में एक अन्य अधिकारी ने कहा कि पीड़ितों को अगले चार सप्ताह में कुछ अंतरिम मुआवजा या वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी।

अन्य समाचार