मुख्यपृष्ठसमाचारहिमाचल में विवाद, यूपी में मर्डर... दोस्त न रहा दोस्त!

हिमाचल में विवाद, यूपी में मर्डर… दोस्त न रहा दोस्त!

-फावड़े से काटकर अधेड़ की हत्या
-गांव में तैनात हुई पुलिस
सामना संवाददाता / गोरखपुर।
दोस्त दोस्ती के लिए कुर्बानी देता है। दोस्त भूल जाता है कि उसका अपना कोई स्वार्थ है कुर्बानी के लिए। दुश्मन तो आपको नुकसान ही देंगे। जो आपका नुकसान करे, आपके ऊपर कष्ट लाए वह दुश्मन होता है। कहते हैं कि दोस्त से बढ़कर कोई नहीं होता है, लेकिन जब यही दोस्त दुश्मन बन जाता है तो मौत ही मिलती है। कुछ इसी तरह का वाकया हिमाचल प्रदेश में रहने के दौरान दो रूम पार्टनर में हुआ। दो दोस्तों के विवाद ने कल गोरखपुर में भयानक रूप ले लिया। उसी विवाद में देर रात ४८ वर्षीय ज्ञान निषाद पुत्र विन्ध्याचल की फावड़े से काटकर हत्या कर दी गई। आरोपित आकाश निषाद पुत्र भीम निषाद हत्या के बाद से ही फरार है। पुलिस ने आरोपित के माता-पिता को हिरासत में लिया है और पूछताछ कर रही है। उधर गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।
फावड़े से प्रहार कर काटा पैर
पुलिस के अनुसार देर रात दोनों में हिमाचल में हुई कहासुनी को लेकर आकाश व उसके पिता भीम व पत्नी गुजराती फावड़ा व धारदार हथियार लेकर मोनू के घर पर हमला बोल दिया, जहां उसके भाई सोनू व उसके पिता झकरी को मारने पीटने लगे। शोर सुनकर ज्ञान निषाद छुड़ाने गए तभी हमलावरों ने ज्ञान के ऊपर फावड़े से कई बार हमला कर दिया। धीर-धीरे विवाद इतना बढ़ गया कि आकाश ने फावड़े से ज्ञान निषाद के पैर पर प्रहार कर दिया, जिससे उसका पैर कट गया। परिजन तत्काल उसे एंबुलेंस से लेकर स्थानीय पीएचसी फिर वहां से जिला अस्पताल गए। जिला अस्पताल से हालत गंभीर होने पर उसे मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। मौत की सूचना पर तत्काल पुलिस गांव पहुंच गई और शव को कब्जे में ​ले लिया। पुलिस ने आरोपित आकाश के माता-पिता को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। मृतक के घरवालों का कहना है कि फावड़े से हमला करने वालों में आकाश, उसकी बहन और उसका एक दोस्त शामिल है। फिलहाल गांव में तनाव है जिसे देखते हुए फोर्स तैनात है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। पुलिस ने मृतक के परिजनों की तहरीर पर आरोपी आकाश समेत ३ पर केस दर्ज किया है।
मृतक ने हिमाचल में खरीदा था मकान
पुलिस के अनुसार मृतक ज्ञान निषाद ने हिमाचल में मकान खरीदा था। जिसमें आरोपी का भाई रहता था। मृतक ने अपना मकान खाली करा लिया। भाई ने फोन कर यह बात आरोपी आकाश को बता दी। जिसके बाद आकाश दो लोगों के साथ ज्ञान निषाद के पास पहुंचा और फावड़े से प्रहार कर उसकी हत्या कर दी। हमलावरों ने ज्ञान की पत्नी और उसके लड़के को भी धारदार हथियार से मारकर घायल कर दिया। एसपी साउथ अरूण कुमार सिंह ने बताया​ कि मकान खाली कराने को लेकर दोनों ​में विवाद हो गया। जिसके बाद आकाश ने फावड़े से मारकर हत्या कर दी। आरोपितों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। हरनहीं चौकी इंचार्ज अखिलेश तिवारी ने हमला करने वाले भीम निषाद व उनकी पत्नी गुजराती को गिरफ्तार कर लिया गया। लड़का आकाश अभी भी फरार है।
एक सप्ताह पूर्व दोनों आए थे गांव
पुलिस के अनुसार बांसगांव के हरनही पुलिस चौकी क्षेत्र के हरिहरपुर केवटान टोला निवासी मोनू पुत्र झकरी निषाद व धर्मराज निषाद पुत्र भीम निषाद का लड़का हिमाचल प्रदेश में रह कर पेंट पॉलिश का काम करते थे। दोनों एक ही कमरे में रहते थे, किसी बात को लेकर दोनों में विवाद हो गया, जिसकी सूचना धर्मराज ने अपने भाई आकाश व पिता भीम को दी। वहां एक माह पूर्व रूम के किराए आदि को लेकर दोनों में कहासुनी हो गई थी। एक सप्ताह पूर्व दोनों गांव आए थे।

अन्य समाचार