मुख्यपृष्ठसमाचार`दीनी कट्टरपंथी' की गिरफ्त में था मुर्तजा! ...-हमलावर को लखनऊ ले आई...

`दीनी कट्टरपंथी’ की गिरफ्त में था मुर्तजा! …-हमलावर को लखनऊ ले आई एटीएस

विक्रम सिंह / गोरखपुर । एक आईआईटी प्रतिष्ठित मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करता है और फिर उसे छोड़कर जाकिर नाइक की जहरीली जेहादी तकरीरों में उलझकर मजहबी उन्माद में बहक जाता है…! यही है सनातनी परंपरा में नाथ संप्रदाय की अति सम्मानित सर्वोच्च पीठ गोरक्ष (गोरखनाथ मंदिर) पर हमला करने वाले मुर्तजा अब्बासी का सनसनीखेज `सच’। उसके पकड़े जाने के बाद से ही देश की खुफिया व सुरक्षा एजेंसियां बेचैन हो उठी हैं। सच को खंगालने के लिए वारदात के बाद से ही आरोपी मुर्तजा व उसके दोस्तों और रिश्तेदारों से पड़ताल का मैराथन सिलसिला चल रहा है। आरोपी सात दिनों की पुलिस कस्टडी में है और एटीएस उसे अपने साथ लखनऊ ले आई है। कड़ी चुनौती है एटीएस के सामने भी, आखिर वैâसे और किन वजहों से आईआईटी की पढ़ाई करने वाला ऐसी गतिविधियों में क्यों संलिप्त हो गया?
कट्टरपंथियों का सुनता था भाषण
यूपी के एडीजी (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया कि हम इस घटना से जुड़े हर पहलू का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं। गिरफ्तार किया गया व्यक्ति किन लोगों या संगठनों से जु़ड़ा है, इसका भी पता लगाया जा रहा है। इस बीच वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने दावा किया कि अभियुक्त ने अपने लैपटॉप पर मुस्लिम कट्टरपंथियों के भाषण देखे थे। मामले की जांच यूपी पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स और एटीएस की संयुक्त टीम कर रही है। जांचकर्ताओं को संदेह है कि अब्बासी खुद ही कट्टरपंथ की गिरफ्त में है। मंगलवार को जांचकर्ताओं ने कुशीनगर, सिद्धार्थनगर और महराजगंज जिलों के विभिन्न स्थानों पर तलाशी अभियान चलाया, जहां अब्बासी हाल में ठहरा था।

 

अन्य समाचार