मुख्यपृष्ठसमाचारनायगांव को मिलेगी ईस्ट-वेस्ट कनेक्टिविटी! ... फ्लाइओवर बनकर तैयार, राह होगी आसान

नायगांव को मिलेगी ईस्ट-वेस्ट कनेक्टिविटी! … फ्लाइओवर बनकर तैयार, राह होगी आसान

• एमएमआरडीए ने पूरा किया काम

सामना संवाददाता / मुंबई । वसई-विरार में रहनेवाले लोगों का सफर आगामी कुछ दिनों में आसान होगा। नायगांव को ईस्ट-वेस्ट कनेक्टिविटी देनेवाला फ्लाइओवर बनकर तैयार हो गया है। एमएमआरडीए ने नायगांव में १.२९ किमी लंबा पुल बना लिया है। इस फ्लाइओवर के फिनिशिंग का काम अपने अंतिम चरण में है। ये काम महज कुछ दिनों में पूरा हो जाएगा। माना जा रहा है कि एक सप्ताह में यह फ्लाइओवर आम नागरिकों के लिए खुल जाएगा।
२०१३ में शुरू हुआ प्रोजेक्ट
एमएमआरडीए के अंतर्गत तैयार होनेवाले १.२९ किमी लंबे नायगांव फ्लाइओवर का निर्माण कार्य २०१३ को शुरू किया गया था। वर्ष २०१६ में इसका निर्माण कार्य पूरा होना था। कई डेडलाइन मिस होने के बाद अब अप्रैल में फ्लाइओवर आम जनता की सुविधा के लिए खोला जाएगा।
रु. १०८ करोड़ खर्च
इस फ्लाइओवर के निर्माण पर करीब १०८ करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। पर्यावरण विभाग व रेलवे की अनुमति न मिलने से पुल का कार्य दो सालों से सुस्त गति से चल रहा था। हालांकि महाविकास आघाड़ी सरकार के आते ही तमाम इंप्रâा प्रोजेक्ट्स के निर्माण कार्य पर विशेष जोर देते हुए इस फ्लाइओवर को पूरा किया गया है। इस फ्लाइओवर के निर्माण में स्थानीय नेताओं की भी भूमिका अहम रही। अधिक प्रयास के बाद रेलवे ने एमएमआरडीए को गर्डर डालने की अनुमति दी। चार से छह घंटे के मेगा ब्लॉक के बाद गर्डर रखने का काम पूरा किया गया।
खर्च होगा कम
वर्तमान में नागरिकों को काशीमीरा से घूमकर वसई-विरार जाना होता है। ऐसे में र्इंधन और समय बहुत खर्च होता है। वाहन चालकों का सफर आसान बनाने के लिए एमएमआरडीए ने नायगांव के फ्लाइओवर का निर्माण किया है। इसके अलावा नायगांव-जुचंद्र- बोपाने की ५.१३ किमी सड़क को भी चौड़ा करने का काम पूरा कर लिया है।
समय की होगी बचत
फ्लाइओवर के बन जाने से राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या ८ से वसई-पश्चिम और उमेले गांव के स्थानीय लोगों का सफर लगभग १५ से २० किमी तक कम हो जाएगा। पुल के बन जाने से नायगांव-पश्चिम, नायगांव-पूर्व और वसई तालुका जैसे उमेले, जुचंद्र आदि में स्थानीय लोगों का सफर काफी आसान हो जाएगा। एमएमआरडीए कमिश्नर एस.वी. आर श्रीनिवास के मुताबिक फ्लाइओवर लगभग बनकर तैयार हो चुका है, केवल कुछ अंतिम फिनिशिंग का काम बचा है। यह काम तीन से चार दिन में पूरा कर लिया जाएगा। आगामी एक सप्ताह में फ्लाइओवर आम जनता के लिए खुलने की उम्मीद है।

अन्य समाचार