मुख्यपृष्ठसमाचारनंदबाबा की नगरी में नंदोत्सव की धूम: नंदलाला को पालने में झुलाती...

नंदबाबा की नगरी में नंदोत्सव की धूम: नंदलाला को पालने में झुलाती मां यशोदा

कमलकांत उपमन्यु / मथुरा

महावन तहसील क्षेत्र में गोकुल स्थित नंदभवन में कन्हैया का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। गलियों में बरसे नंदोत्सव के आनंद को लूटने के लिए देश-विदेश से हजारों भक्त गोकुल व नंदगांव मंदिर पहुंचे। भक्तजन भी कान्हा के जन्मोत्सव की खुशी में नाच-गाकर अपने आपको धन्य मान रहे थे। केके अरोड़ा ने बताया कि ‘डोला’ नंद किला भवन मंदिर से ठकुरानी घाट मुख्य मार्ग से होते हुए राजकीय प्राइमरी पाठशाला दो पर पहुंचा। इस दौरान घोड़ों से दही व हल्दी जिसे लाला की छी-छी कहते हैं, लुटाते हुए चल रहे थे और श्रद्धालु ‘जय कन्हैयालाल की’ के जयकारे लगा रहे थे। श्रद्धालुओं को लड्डू पेठा, बर्फी, पैसे, बिस्कुट, साड़ियां, पायल, मोतियों की माला आदि लुटाए गए। पूरे गोकुल को दुल्हन की तरह सजाया गया था। रिसीवर अरोड़ा ने बताया कि कान्हा के जन्म होने की खुशी में मेघराज भी पीछे नहीं रहे। भगवान श्रीकृष्ण की ब्रज की धरती पर जन्म होने के बाद जमकर बरसे।
गोकुल में नंद किला और नंद भवन मंदिर में सुबह से ठाकुरजी के जन्मोत्सव और झूला पालना के दर्शन कराए गए। जैसे ही भगवान श्रीकृष्ण और बलराम के स्वरूप मंदिर प्रांगण में पहुंचे तो पूरा प्रांगण ‘नंद के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की’, ‘गोकुल में मच गयो हल्ला, आ गयो यशोदा ने लल्ला, कान्हा की सुनकर आई यशोदा मैया लै लै बधाई’ के जयकारे गूंज उठे।

अन्य समाचार