" /> नासिक का ‘मैग्नेट मैन!’ वैक्सीन की डोज के बाद शरीर में चुंबकीय शक्ति का दावा

नासिक का ‘मैग्नेट मैन!’ वैक्सीन की डोज के बाद शरीर में चुंबकीय शक्ति का दावा

नासिक में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां एक बुजुर्ग व्यक्ति ने कोरोना की दूसरी डोज लगवाने के बाद एक अजीब दावा किया है। बुजुर्ग का कहना है कि दूसरी डोज लगवाने के बाद उनके शरीर में चुंबकीय शक्ति पैदा हो गई है। इस वजह से अब उनके शरीर पर स्टील के बर्तन बड़ी ही आसानी के साथ चिपक रहे हैं। बिल्कुल वैसे ही जैसे कोई चुंबक लोहे की चीजों से चिपक जाता है। जाहिर है कि नासिक के इस ‘मैग्नेट मैन’ के बारे में लोगों की उत्सुकता काफी बढ़ गई है।
शरीर में चुंबकीय शकित को प्रमाणित करने के लिए उन्होंने एक वीडियो भी बनाया है, जिसमें साफ दिखाई पड़ता है कि उस बुजुर्ग के शरीर से चम्मच, छोटी प्लेट और घर में इस्तेमाल किए जानेवाले बर्तन शरीर से चिपके हुए हैं। नासिक के इस बुजुर्ग का नाम अरविंद जगन्नाथ सोनार है। इन्होंने कुछ दिनों पहले ही कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवाई है। दोनों डोज कंप्लीट होने के बाद ही उनके शरीर में इस अजीब शक्ति का विकास हुआ है। अरविंद नासिक के शिवाजी चौक पर रहते हैं। जब पहली बार यह घटना हुई तो परिवार के लोगों को लगा कि शायद पसीने की वजह से यह बर्तन शरीर से चिपक रहे हैं, जिसके बाद अरविंद सोनार को नहलाया गया। इसके बाद भी उनके शरीर से लोहे की चीजें चिपकती रहीं। फिलहाल यह घटना कई दिनों से चल रही है। ऐसे में अब यह मामला नासिक शहर के डॉक्टरों के लिए भी अजीब पहेली बना हुआ है। नासिक जिले के डॉक्टर अशोक थोरात ने मीडिया से बातचीत में कहा कि यह शोध का विषय है। इस बारे में फिलहाल कोई टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी। इसकी पूरी जांच के बाद में ही निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि आखिर इस घटना के पीछे क्या वजह हो सकती है। फिलहाल हम इसकी रिपोर्ट महाराष्ट्र सरकार को भेजेंगे और उनके निर्देश के मुताबिक काम किया जाएगा। अरविंद सोनार के बेटे बताते हैं कि उन्होंने यूट्यूब पर एक वीडियो देखा था जिसमें दिल्ली का कोई शख्स यह बता रहा था कि कोरोना की सेकंड डोज लेने के बाद उनके शरीर में चुंबकीय शक्ति पैदा हो गई। यह वीडियो देखकर मैंने भी अपने मम्मी-पापा से कहा कि इसे एक बार ट्राई करके देखना चाहिए। जब हमने सिक्के, चम्मच, प्लेट जैसी चीजों को पापा के शरीर से लगाया तो वह सारी चीज उनके शरीर पर चिपक गर्इं।