मुख्यपृष्ठनए समाचारकेरल में मिला कोरोना का नया सब वैरिएंट!

केरल में मिला कोरोना का नया सब वैरिएंट!

सामना संवाददाता / मुंबई

जीनोम सीक्वेसिंग से आया सामने
विशेषज्ञों ने बताया चिंता की कोई बात नहीं

आज से ठीक तीन साल पहले दुनिया में कोरोना वायरस ने दस्तक दी थी। इसकी शुरुआत चीन के वुहान से हुई थी, जिसकी वजह से पूरी दुनिया अस्त-व्यस्त हो गई थी। हालांकि, अब इसका प्रकोप काफी हद तक खत्म हो चुका है और दुनिया फिर से पटरी पर आ गई है। अब कोरोना का नया सब वैरिएंट केरल में सामने आया है। जीनोम सीक्वेंसिंग के बाद बहरूपिए वायरस के नए वैरिएंट को पकड़ा गया है, जिसका नाम जेएन.१ है। बताया जा रहा है कि हाल ही में अमेरिका, सिंगापुर और इंडोनेशिया में कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या में वृद्धि के लिए यही सब वैरिएंट जिम्मेदार है। विशेषज्ञों का कहना है कि हिंदुस्थान के लिए अभी कोई चिंता की बात नहीं है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की कोविड टास्क फोर्स के सह अध्यक्ष डॉ. राजीव जयदेवन ने कहा कि हिंदुस्थान के बाहर जेएन.१ सब वैरिएंट से संक्रमित मरीजों की संख्या काफी है। लेकिन हमारे देश में अभी तक सिर्पâ केरल से ही मामला सामने आया है। इसकी सबसे बड़ी वजह केरल में लगातार जीनोम सीक्वेंसिंग पर ध्यान देना है। बाकी राज्यों की स्थिति तभी सामने आ सकती है जब वहां कोरोना संक्रमित रोगियों के सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग कराई जाए। केरल में जो जेएन.१ सब वैरिएंट की पहचान हुई है यह कोरोना के ही बीए.२.८६ वैरिएंट से निकला है, जिसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पिरोला नाम से जाना जाता है। अमेरिका और यूरोप में इस पर चिंता जताई जा रही है, क्योंकि वहां संक्रमण के मामलों में बड़ा उछाल आया है। लेकिन हिंदुस्थान में ऐसी स्थिति नहीं है।

एक दिन में मिले ३०० से ज्यादा संक्रमित 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार को देश के विभिन्न राज्यों में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या ३१२ तक पहुंच गई है। इसके चलते देश में एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या भी १,३४१ पर पहुंच गई है।

फिर बढ़ रहे हैं कोरोना के मरीज 

विशेषज्ञों के मुताबिक, इन्फ्लूएंजा वायरस दुनिया के कई देशों में फैल चुका है। इन्फ्लूएंजा वायरस लोगों में सर्दी, खांसी और हल्के बुखार के लक्षण पैदा करता है। ऐसे लोग जब जांच के लिए अस्पताल जा रहे हैं, तो उनकी भी कोविड जांच की जा रही है।

अन्य समाचार