मुख्यपृष्ठखबरेंकट्टर मुसलमानों को नया टार्गेेट : रोज ३  हिंदुओं को बनाओ मुसलमान!

कट्टर मुसलमानों को नया टार्गेेट : रोज ३  हिंदुओं को बनाओ मुसलमान!

गंगाधर को मस्जिद ले जाकर खिलाया था बीफ
सामना संवाददाता / बंगलुरु
कर्नाटक में २६ साल के एक दलित युवक के जबरन इस्लामी धर्मांतरण के मामले में अब तक ५ लोग गिरफ्तार किए गए हैं। जानकारी के अनुसार यह मामला पिछले दिनों तब सामने आया, जब पीड़ित श्रीधर गंगाधर ने पुलिस से खुद को जबरन मुस्लिम बनाए जाने की शिकायत की थी। गंगाधर मांड्या ने बताया था कि अत्तावर रहमान उन्हें बंगलुरु के बनाशंकरी मस्जिद ले गया था और वहां उसे इस्लामिक तौर-तरीके सिखाए गए। उन्होंने बताया था कि उन्हें ‘बीफ’ खाने को मजबूर किया गया और मना करने पर मारपीट की गई। केवल यही नहीं बल्कि उनका खतना भी कराया गया और उनका नाम बदलकर मोहम्मद सलमान कर दिया गया। इस मामले में शिकायत के अनुसार आरोपियों ने गंगाधर को रोज तीन हिंदुओं का धर्मांतरण करने का टारगेट भी दिया था। ऐसा नहीं करने पर उसे फंसाने की धमकी दी थी। आरोपियों ने गंगाधर के हाथ में हथियार थमाकर उनकी तस्वीर ले ली थी। केवल यही नहीं बल्कि अन्य हिंदुओं का धर्मांतरण नहीं करने पर यह फोटो पुलिस को दे देने की धमकी दी गई थी।

पाक में बंदूक की नोक पर
सिख लड़के के साथ गैंगरेप
पाकिस्तान के सिंध स्थित जकोबाबाद में हिंदुओं पर अत्याचार कम नहीं हो रहा है। एक बार फिर एक १३ साल के सिख लड़के से ३ मुस्लिमों ने बलात्कार किया। पुलिस ने दो आरोपियों को पकड़ा लेकिन वो भी थाने से भाग निकले। आरोपियों ने लड़के को मोटरसाइकिल दिलाने का लालच दिया था। इसी बहाने वो उसे लेकर स्थानीय टेलीफोन एक्सचेंज ऑफिस लेकर गए, जहां उसके साथ सामूहिक अप्राकृतिक बलात्कार किया गया। पाकिस्तान का सिंध वो प्रांत है, जहां हिंदुओं और सिखों के जबरन धर्मांतरण और अल्पसंख्यक लड़कियों के अपहरण की घटनाएं आम हो गई हैं। थार, उमेरकोट, मीरपुर खास, घोटकी और खैरपुर जैसे क्षेत्रों में हिंदुओं की ठीक-ठाक जनसंख्या है लेकिन वो पीड़ित हैं। जुलाई २०१९ में सिंध की विधानसभा में हिंदू लड़कियों के धर्मांतरण को लेकर प्रस्ताव भी आया था। इस मामले में आरोपियों की पहचान मोहसिन जमैल और सिद्दीर के रूप में हुई है। इन तीनों ने मिल कर बंदूक की नोक पर सिख लड़के का गैंगरेप किया। पाकिस्तान में इस तरह का यह पहला मामला नहीं है। नवंबर २०२१ में सिंध में ही ११ साल के हिंदू लड़के का उत्पीड़न किया गया था और फिर उसकी हत्या कर दी गई थी। जब ५वीं के उक्त छात्र का परिवार गुरु नानक देव के प्रकाश पर्व में व्यस्त था, तब उसका अपहरण कर लिया गया था। घर से कुछ ही दूरी पर उसका शव बरामद हुआ। गला दबा कर उसकी हत्या की गई थी। सिंध में बाढ़ के बावजूद भी हिन्दू लड़कियों पर अत्याचार नहीं रुक रहा है।

आरोपियों ने मृतक का खाया था मांस!
केरल के पतनमतिट्टा स्थित एलान्थूर में दो महिलाओं की हत्या कर उनकी ‘कुर्बानी’ देने के मामले में अब नरमांस-भक्षण का मामला सामने आया है। बता दें कि कोच्चि के शहर पुलिस कमिश्नर सीएच नागराजू ने इस बारे में खुलासा करते हुए बताया कि हाल ही में यह पता चला है कि आरोपियों ने एक मृतक का मांस खाया था, जिसके बाद पुलिस सबूत जुटाने में लगी है। आरोपियों ने मृतक के शरीर के कई टुकड़े खाए थे। इस मामले में अब तक एलान्थूर के रहने वाले ६८ वर्षीय भगवाल सिंह, उसकी ५९ वर्षीय पत्नी लैला और पेरुम्बावूर के रहने वाले फकीर मोहम्मद शफी को गिरफ्तार किया गया है। इन्होंने तमिलनाडु की ५२ वर्षीया पद्मा और थ्रिसुर की ‘कुर्बानी’ देने के लिए अपहरण किया था।

अन्य समाचार