मुख्यपृष्ठसमाचारडॉक्टर ने छिपाई बात .... हाथ से फिसला नवजात!

डॉक्टर ने छिपाई बात …. हाथ से फिसला नवजात!

• बच्चे की मौत होने पर भी परिवार को नहीं दी जानकारी
सामना संवाददाता / मथुरा । कृष्णानगर स्थित मेहता नर्सिंग होम में डिलिवरी के दौरान डॉक्टर के हाथ से नवजात गिर गया, जिससे उसकी मौत हो गई। परिजनों ने चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए सीएमओ को शिकायती पत्र देकर र्कारवाई की मांग की है। जानकारी के अनुसार नरसी विहार सौंख रोड निवासी मीनाक्षी ने सीएमओ को भेजे शिकायती पत्र में आरोप लगाया है कि सौंख रोड निवासी रवि की पत्नी मोनिका को गर्भावस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। आरोप है कि कल डिलिवरी के बाद डॉक्टर के हाथ से बच्चा नीचे गिर गया। इससे बच्चे के चेहरे पर चोट लगी, जिसके निशान आ गए थे। उसका कहना है कि बच्चा इसके बाद भी ठीक था, लेकिन उसे प्राथमिक उपचार नहीं दिया गया। उसने बताया कि नवजात शिशु को जमीन पर टेऊ में डाल दिया गया। आधे घंटे बाद जब परिजनों ने बच्चा मांगा तो उसे गंभीर अवस्था में पीआर अस्पताल ले जाया गया, जहां वेंटिलेटर पर कुछ समय बच्चे को रखा गया। जहां उसकी मौत हो गई। मेहता नर्सिंग होम के संचालक डॉ. राकेश मेहता ने कहा कि हमारे यहां कोई लापरवाही नहीं हुई। बच्चा प्री मैच्योर पैदा हुआ था, इस कारण उसकी हालात बहुत खराब थी। हमने उस बच्चे को अच्छे अस्पताल में ले जाने के लिए परिवार को बताया और रेफर कर दिया गया था। लगाए गए आरोप निराधार हैं।
मामले की जांच के दिए आदेश
सीएमओ मथुरा डॉ. एके वर्मा ने बताया कि बच्चे के परिवार की ओर से कल हमें शिकायत मिली है। इस संबंध में डॉ. भूदेव सिंह को जांच सौंपी गई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है, वैसे जानकारी मिली है कि बच्चा सात महीने का पैदा हुआ था।

अन्य समाचार