मुख्यपृष्ठनए समाचारयूपी में नहीं हुए विकास काम! कैग रिपोर्ट में खुलासा, १६ विभागों...

यूपी में नहीं हुए विकास काम! कैग रिपोर्ट में खुलासा, १६ विभागों ने खर्च नहीं किया बजट

सामना संवाददाता / लखनऊ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राज्य में विकास करने का दावा करते हैंै। लेकिन उनका दावा हवा-हवाई साबित हुआ है। राज्य में विकास के लिए जारी किया गया बजट जस का तस पड़ा हुआ है। ऐसा यूपी विधानसभा में पेश की गई सीएजी रिपोर्ट में खुलासा हुआ है। रिपोर्ट में बताया गया कि यूपी के १६ विभागों ने अपना बजट खर्च नहीं किया है। इसका कारण योजना पर काम न करना या धीमी गति से काम करना बताया जा रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार, राज्य सरकार के अधीन १६ विभागों ने पांच साल में ४.७६ लाख करोड़ रुपए खर्च ही नहीं किए हैं। खर्च न करने वालों में वित्त विभाग पहले और सबसे नीचे आवास विकास विभाग है। रिपोर्ट में कहा गया है कि किसी अनुदान के अंतर्गत सतत बचतों का मतलब है कि या तो योजनाओं और कार्यक्रमों पर काम नहीं किया गया अथवा धीमी गति से काम किया गया। इसके परिणामस्वरूप १६ विभाग पांच साल में ४.७६ लाख करोड़ रुपए खर्च नहीं कर सके। वर्ष २०१८-१९ से वर्ष २०२२-२३ के बीच के ऑडिट में पाया गया कि बेहद महत्वपूर्ण विभागों ने धीमी गति से काम किया या फिर काम किया ही नहीं गया।

पांच साल में खर्च न करने वाले
विभागों का लेखा-जोखा
विभाग – बचत
आवास विकास – ६,५७० करोड़
मध्यम उद्योग – १६,५०० करोड़
कृषि व अन्य – ३७,२६४ करोड़
गृह विभाग – २२,४२१ करोड़
चिकित्सा – १३,६१६ करोड़
चिकित्सा (परिवार कल्याण) – १०,६२० करोड़
नगर विकास विभाग – ३५,०७४ करोड़
न्याय विभाग – १२,९४७ करोड़
महिला बाल कल्याण – १,६२४० करोड़
राजस्व विभाग – ६,९२५ करोड़
वित्त विभाग (ऋण) – १,०५,७८३ करोड़
वित्त विभाग (भत्ते) – ५२,०१३ करोड़
शिक्षा विभाग (प्राथमिक) – ७०,४२३ करोड़
शिक्षा विभाग (माध्यमिक) – ११,१४१ करोड़
समााज कल्याण – ४३,७२० करोड़
सिंचाई विभाग – १५,६७४ करोड़

अन्य समाचार