मुख्यपृष्ठनए समाचारकितना ही आड़े आओ : इंडिया की घुड़दौड़ रोकना असंभव! -संजय राऊत...

कितना ही आड़े आओ : इंडिया की घुड़दौड़ रोकना असंभव! -संजय राऊत ने सुनाए खड़े बोल

सामना संवाददाता / मुंबई
केंद्र में भाजपा के नेतृत्ववाली नरेंद्र मोदी सरकार की तानाशाही को जड़ से समाप्त करने के लिए देशभर से देशभक्त इंडिया गठबंधन दिनोंदिन मजबूत हो रहा है। अब कोई कितना ही आड़े आए फिर भी इंडिया की घुड़दौड़ रोकना असंभव है। आगामी चुनाव में इंडिया जीतेगा, ऐसा विश्वास शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) के नेता व सांसद संजय राऊत ने व्यक्त किया।
इंडिया गठबंधन की तीसरी बैठक मुंबई के ग्रैंड हयात होटल में हो रही है। कल मीडिया से बोलते हुए संजय राऊत ने इस बैठक के संदर्भ में बयान दिया है। देशभर के महत्वपूर्ण नेता इस बैठक में उपस्थित रहेंगे। देश के विभिन्न मुद्दों पर बैठक में चर्चा होगी, ऐसा उन्होंने कहा। बैठक के संदर्भ में पत्रकार परिषद में शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे, राष्ट्रवादी के अध्यक्ष शरद पवार और कांग्रेस के महत्वपूर्ण नेता उपस्थित रहेंगे, ऐसी जानकारी संजय राऊत ने दी।
गोधरा जैसे हत्याकांड कराने का षड्यंत्र
देश में गोधरा जैसे हत्याकांड कराने का षड्यंत्र रचने की बात संजय राऊत ने इस मौके पर की। गोधरा हत्याकांड किए गए उसी प्रकार राम मंदिर उद्घाटन पर देशभर से ट्रेन बुलाई जाएगी और एकाध ट्रेन पर हमला किया जाएगा। पुलवामा हो सकता है। इस प्रकार की घटनाएं हो सकती हैं, ऐसा डर देश के प्रमुख विरोधी दलों को लग रहा है, ऐसा सांसद राऊत ने कहा।
जगह बंटवारे पर चर्चा नहीं
शिवसेना के १९ सांसद कायम रहेंगे
बैठक में जगहों के बंटवारे पर चर्चा होने के संदर्भ में संजय राऊत से मीडियावालों ने सवाल पूछा, इस पर उन्होंने कहा कि जगह बंटवारे पर चर्चा नहीं होगी, ऐसा उन्होंने स्पष्ट किया। मात्र शिवसेना के महाराष्ट्र के १८ और दादरा-नगर हवेली के १ ऐसे १९ सांसद कायम रहेंगे। वे १९ से २० होंगे, परंतु १५ नहीं होंगे, ऐसा राऊत ने दृढ़ता के साथ कहा।
हिम्मत हो तो चीन पर सर्जिकल स्ट्राइक करो
चीन ने अपनी जमीन पर अतिक्रमण किया है और प्रधानमंत्री मोदी चीन के राष्ट्रपति से गले मिल रहे हैं। हिम्मत हो तो चीन पर सर्जिकल स्ट्राइक करो, ऐसा चुनौती संजय राऊत ने दी है।
आएगा तो ‘मोदी’ नहीं अब ‘जाएगा तो मोदी ही’
संजय राऊत ने इस मौके पर भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। भाजपा के पास २०२४ के चुनाव के लिए कोई एजेंडा नहीं है। देश में बेरोजगारी, महंगाई बढ़ी हुई है। चीन ने घुसपैठ किया है। अनेकों सवाल हैं। उनकी तरफ ध्यान न देते हुए, सांप्रदायिक तनाव निर्माण करने और चुनाव में जाने का यही एक एजेंडा भाजपा के पास है, ऐसी टिप्पणी उन्होंने की। देश में वातावरण बदल रहा है। आगामी चुनाव में ‘आएगा तो मोदी ही नहीं, जाएगा तो मोदी ही।’ ऐसी घोषणा होगी, ऐसा उन्होंने कहा।

अन्य समाचार