मुख्यपृष्ठसमाचारराजभवन के पास नहीं है कोश्यारी के चंदे की जानकारी!

राजभवन के पास नहीं है कोश्यारी के चंदे की जानकारी!

-सूचना अधिकार में नहीं मिली पूर्व राज्यपाल से संबंधित सूचना

सामना संवाददाता / मुंबई

महाराष्ट्र राज्य के विवादास्पद तत्कालीन राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी अब नई मुसीबत में फंस सकते हैं। आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली को एक जवाब में महाराष्ट्र के राज्यपाल के परिवार प्रबंधन कार्यालय ने स्पष्ट किया है कि राज्यपाल रहते हुए भगत सिंह कोश्यारी द्वारा उनसे जुड़े संगठन के लिए एकत्र किए गए चंदे की जानकारी उनके कार्यालय से संबंधित नहीं है।
आरटीआई द्वारा भगत सिंह कोश्यारी जब राज्यपाल थे, तब उनके सरस्वती शिशु मंदिर-पिथौरागढ़, विवेकानंद विद्या मंदिर इंटर कॉलेज-पिथौरागढ़ और सरस्वती विहार शैक्षणिक संस्थान हायर सेकंडरी-नैनीताल के लिए राज्य के उद्योगपतियों, डेवलपर्स और अन्य लोगों से प्राप्त चंदे की विस्तृत जानकारी मांगी गई। महाराष्ट्र के राज्यपाल के परिवार प्रबंधक कार्यालय की अधीक्षक ने यह स्पष्ट किया है कि मांगी गई जानकारी उनके कार्यालय से संबंधित नहीं है। आपको संबंधित संगठन से संपर्क करना चाहिए। राजभवन द्वारा खारिज किए गए आदेश के खिलाफ अनिल गलगली ने प्रथम अपील दायर की है। राज्य सरकार और राज्यपालों के परिवार प्रबंधक कार्यालय को इस चंदे की जानकारी देना आवश्यक था। ऐसी कोई जानकारी नहीं है तो राज्यपाल के परिवार प्रबंधक उन्हें लिखित पत्र भेजकर उस अज्ञात चंदे की जानकारी मांगें, ताकि उस जानकारी को राजभवन स्थित रिकॉर्ड में सुरक्षित रखा जा सके। गलगली के मुताबिक, उनके राज्यपाल रहने के दौरान जुटाए गए चंदे की जानकारी राजभवन को होनी चाहिए थी, लेकिन राज्यपाल ने गुपचुप तरीके से जुटाए गए चंदे की जानकारी छुपा ली।

अन्य समाचार