मुख्यपृष्ठनए समाचारअब गुजरात सरकार पर हमें भरोसा नहीं! ...गेमिंग जोन घटना पर गुजरात...

अब गुजरात सरकार पर हमें भरोसा नहीं! …गेमिंग जोन घटना पर गुजरात हाई कोर्ट की फटकार

ढाई साल से ये जब चल रहा था, आप क्या अंधे हो गए थे?
कोर्ट ने भाजपा सरकार को लिया आड़े हाथ
सामना संवाददाता / अमदाबाद 
गुजरात के राजकोट में हुए आग हादसे को लेकर हाई कोर्ट ने गुजरात सरकार और नगर निगम को लताड़ लगाई है। इस घटना को लेकर कोर्ट ने नाराजगी प्रकट की और कहा कि इतने सालों से क्या अधिकारी सोए थे? अब हमें स्थानीय व्यवस्था और राज्य सरकार पर भरोसा नहीं है, आप अंधे हो गए थे। घटना को लेकर बताया जा रहा है कि टीआरपी गेम जोन के मालिक ने यहां पूरा रैंप लकड़ी से बना रखा था। इसके अलावा वहां एंट्री-एग्जिट का एक ही गेट था और उन्होंने प्रशासन से एनओसी भी नहीं ली थी। बता दें कि ‘गेम जोन’ में शनिवार शाम लगी थी। इस भीषण आग में १० बच्चों सहित ३२ लोगों की मौत हो गई।
क्या नींद में थे अधिकारी?
गुजरात हाई कोर्ट में जस्टिस बीरेन वैष्णव और देवेन देसाई की बेंच ने सुनवाई के दौरान कहा कि इस हादसे के लिए कौन जिम्मेदार है? हम पिछले चार सालों में कितने ऑर्डर पास कर चुके हैं। इसके जिम्मेदार अधिकारी क्या नींद में थे। अब हमें राज्य सरकार पर भरोसा नहीं है।

७ अधिकारी हुए सस्पेंड
इस बीच गुजरात सरकार ने गेम जोन कांड में सख्त कार्रवाई करते हुए ७ अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है। इनमें २ पुलिस इंस्पेक्टर, २ असिस्टेंट इंजीनियर, २ डिप्टी इंजीनियर और १ फायर स्टेशन ऑफिसर शामिल हैं, लेकिन पीड़ितों के परिवार इस कार्रवाई से नाराज बताए जाते हैं। उनका कहना है कि आखिर अब इस कार्रवाई का क्या फायदा? यह एक्शन पहले लेना चाहिए था।

अन्य समाचार