मुख्यपृष्ठनए समाचारदुर्गंधमुक्त हुई रेल पटरियां! ...रेलवे ट्रैक से हटा 1.66 लाख क्यूबिक मीटर...

दुर्गंधमुक्त हुई रेल पटरियां! …रेलवे ट्रैक से हटा 1.66 लाख क्यूबिक मीटर कचरा

सामना संवाददाता / मुंबई । रेलवे ने न केवल स्टेशनों और उसके आसपास बल्कि रेलवे पटरियों पर भी स्वच्छ वातावरण बनाए रखने के लिए लगातार विभिन्न उपाय किए हैं। मध्य रेल का मुंबई उपनगरीय नेटवर्क दुनिया के सबसे बड़े उपनगरीय रेल नेटवर्क में से एक है, जहां चार उपनगरीय रेल गलियारों और 336 रूट किलोमीटर के नेटवर्क के यात्रियों को सेवा प्रदान करता है। मध्य रेलवे से वर्ष 2021-22 के दौरान स्वच्छता रथ चलाकर उपनगरीय खंड में रेल पटरियों से 1.66 लाख क्यूबिक मीटर कचरा हटाया गया।

संडे मेगा मेंटेनेंस ब्लॉक
मुंबई उपनगरीय खंडों पर परिचालित संडे मेगा मेंटेनेंस ब्लॉक का लाभ उठाकर शहर के रेलवे ट्रैक को साफ रखने के लिए, मध्य रेल मेन लाइन पर सीएसएमटी से कल्याण और हार्बर लाइन पर सीएसएमटी से मानखुर्द के बीच पटरियों पर से कचरा हटाया गया।

मानसून में होता है जलजमाव
पटरियों के किनारे मलबा और कचरा फेंका जाता है जो पटरियों को खराब कर देता है तथा इसके नीचे से गुजरनेवाले नालों के बहाव को भी अवरुद्ध कर देता है, जिससे मानसून के दौरान पटरियों पर जल-जमाव हो जाता है। इन स्वच्छता रथों को मक स्पेशल के रूप में भी जाना जाता है, जो केवल मध्यरात्रि के दौरान ही संचालित होते थे। साफ किए गए कचरे को बोरियों में पैक किया जाता है जिसे बाद में स्वच्छ रथ स्पेशल ट्रेन में लोड किया जाता है।

यहां रेलवे देती है विशेष ध्यान
मुख्य रूप से स्वच्छता रथ का उपयोग सीएसएमटी-कल्याण के बीच स्थित पारसिक टनल के दोनों ओर स्थित झोपड़ियां/झुग्गियां, स्लो लोकल लाइन साइड पर डोंबिवली स्टेशन सीएसएमटी छोर, विक्रोली, माटुंगा-सायन के बीच धोबी घाट, धारावी, सीएसएमटी – मस्जिद – सैंडहर्स्ट रोड, सीएसएमटी से मानखुर्द के बीच हार्बर लाइन पर वडाला और किंग्स सर्कल के बीच रावली जंक्शन, माहिम, चेंबूर और मानखुर्द के बीच, गुरु तेग बहादुर नगर और रावली खंड पर किया जाता है।

अन्य समाचार